यति नरसिंहानंद सरस्वती

एक बेटा पैदा करने वाली मां औरत नहीं बल्कि राक्षस है: नरसिंहानंद

नरसिंहानंद का घटिया बयान, कहा-‘एक बेटा पैदा करने वाली मां औरत नहीं बल्कि राक्षस है, नागिन से कम नहीं है’

विवादित हिन्दू धर्मगुरु नरसिंहानंद ने एक बार फिर बेतुका बयान दिया है। इस बार उन्होंने मर्यादा की सारी सीमाऐं लांघ दी है। उन्होंने कहा है कि जो माँ केवल एक बेटा ही पैदा की हैं उन्हें औरत नहीं मानना चाहिए। वो राक्षस हैं, सांप हैं। वो मां नागिन से कम नहीं हैं। अपनी मर्जी से एक जी बेटा पैदा करने वाली मां को औरत नागिन के समान है। उन्होंने कहा कि वो व्यास पीठ पर बैठ कर बोल रहे है, यह झूठ नहीं है। एक पुत्र पैदा करने वाली मां अपने की पुत्र के लिए दुश्मन है। वो उसे मुसलमानों के हाथों मरवा देगी। विवादित हिन्दू धर्मगुरु नरसिंहानंद ने मुसलमानों की तुलना में हिंदुओं कम जनसंख्या होने की स्थिति को खतरनाक बता रहे थे। उन्होंने कहा कि माताएं,बहनें अधिक से अधिक बच्चे पैदा करें ताकि हिंदुओं की जनसंख्या बढ़ सके।    

हिन्दू मुस्लिम जनसंख्या के मनगढ़ंत आंकड़े दे कर कुछ कट्टरपंथी हिन्दू धर्म गुरु हिंदुओं की घटती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त करते रहते हैं। यति नरसिंहानंद (Yati Narsinghanand) ने इसी बांटने वाली भावना को उकसाने का प्रयास किया है। यह वही नरसिंहानंद है जिसने डासना मंदिर में एक मुस्लिम लड़के की पानी पीने के कारण पिटाई की थी।

नरसिंहानंद हमेशा विवादित बयान देने के कारण रहते हैं चर्चा में

हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद में मुसलमानों के खिलाफ विवादित टिप्पणी किये थे। उन्होंने कहा था कि मुसलमानों के मारने के लिए अब तलवार की नहीं टेकनिक की आवश्यकता है। टेकनिक में उनसे बहुत आगे जाना होगा। उत्तराखंड पुलिस ने धर्मसंसद में विवादित बयान देने के कारण जिन 5 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है उसमें यति नरसिंहानंद का नाम भी शामिल है।


 
बॉलीबुड और राजनीति में शामिल महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी कर चुके हैं। मुस्लिम महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि मुस्लिम महिलाओं को इस्लाम के प्रचार के लिए यौन वस्तुओं के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। भाजपा और RSS से जुड़ी महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि BJP की महिलाएं काम निकालने के लिए एक नेता से दूसरे, दूसरे के बाद तीसरे के पास जाती हैं।

कालीचरण की गिरफ्तारी का विरोध किया है नरसिंहानंद ने, राष्ट्रपिता को ‘गंदगी’ बताया

 रायपुर में आयोजित धर्मसंसद में महात्मा गांधी के लिए अपमानजनक टिप्पणी के कारण कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी हुई है। नरसिंहानंद ने इनके गिरफ्तारी का भी विरोध किया और महात्मा गांधी के लिए अपमानजनक टिप्पणी भी की।

उन्होंने कहा कि गांधी नामक गंदगी के कारण स्वामी कालीचरण महाराज जी की गिरफ्तारी हुई है। जिसने स्वामी कालीचरण को गिरफ्तार किया है उनको मां काली और महादेव विनाश कर देंगे।  

कौन हैं यति नरसिंहानंद?

यति नरसिंहानंद सरस्वती का original नाम दीपक त्यागी है और वो यूपी के मेरठ जिले के निवासी हैं। हापुड़ के चौधरी ताराचंद इंटर कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी की। वे दावा करते हैं कि 1989 में केमिकल टेक्नोलॉजी की डिग्री हासिल करने के लिए वो मॉस्को गए और 1997 में भारत लौटने से पहले तक वो मॉस्को में ही बतौर इंजीनियर नौकरी करते रहे।

Learn More

Aaj Ka Cartoon By Pawan Toon

Leave a Comment

Your email address will not be published.