Home » Blog » Tek Fog की खतरनाक नई दुनिया

Tek Fog की खतरनाक नई दुनिया

Tek Fog
Tek Fog

टेक फॉग एक ब्राउज़र-आधारित सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन है जिसका कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा गलत सूचना के माध्यम से अनुकूल दृष्टिकोण को बढ़ावा देने और अपने विरोधियों को धराशाई करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर घुसपैठ करने के लिए उपयोग किया जाता है। इस एप्लिकेशन ने व्यवसाय, धर्म, आयु, लिंग आदि के आधार पर भारतीय नागरिकों के एक विशाल डेटाबेस भी बना रखा है। यह निष्क्रिय खातों का उपयोग करके अपमान जनक बातों और एक ख़ास वर्ग या किसी ख़ास पार्टी के लिए प्रोपेगंडा करता है । सॉफ्टवेयर का एक प्रमुख कार्य ट्विटर और फेसबुक पर ट्रेंडिंग फीचर्स में हेरफेर करना है , यह पोस्ट को स्वचालित रूप से साझा या रीट्वीट करता है और मौजूदा हैशटैग को ट्रेंडिंग स्तर तक बढ़ावा देता है ।

The Wire की जांच में ये पाया गया

द वायर ने ‘Tek Fog’ नामक एक अत्यधिक आधुनिक गुप्त ऐप्प के अस्तित्व का खुलासा किया है जिसका उपयोग भारत की सत्ताधारी पार्टी के साइबर सैनिकों द्वारा प्रमुख सोशल मीडिया और encrypted messaging प्लेटफॉर्म को hijack करने के लिए किया जाता है। 20 महीने की लंबी जांच से पता चला है कि यह ऐप कैसे नफरत और लक्षित उत्पीड़न को स्वचालित करता है, इस बड़ी तकनीक से प्रचार फैलाता है और और गंदी राजनीति करता है।

टेक फॉग (Tek Fog)को ये ख़तरनाक features एक ऐसा स्प्रिंगबोर्ड प्रदान करता है जिसके मालिक भारत के कॉर्पोरेट के लोग हैं। इस ऑनलाइन automated propaganda का उपयोग और इंजीनियरिंग और corporate दुनिया के लोग सरकार के इशारे पर कर रहे हैं।

The Wire लेख में कहा गया है कि टेक फॉग एप्लिकेशन का इस्तेमाल भाजपा द्वारा किया गया है। यह पार्टी की लोकप्रियता को कृत्रिम रूप से बढ़ाता है इसके आलोचकों को परेशान करने और प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बड़े पैमाने पर सार्वजनिक धारणाओं में हेरफेर करने के लिए उपयोग किया जा रहा है।

Tek Fog Inactive WhatsApp खातों को फ़िशिंग और कैप्चर करता है

टेक फॉग निष्क्रिय व्हाट्सएप अकाउंट को हैक करने में सक्षम है यह निष्क्रिय पड़े व्हाट्सएप अकाउंट के मालिक के बदले मैसेज भेजता है। उसके संपर्कों को प्रचार संदेशों के साथ बड़े पैमाने पर संदेश भेजता है। निष्क्रिय व्हाट्सएप खाते वे खाते हैं जिनका उपयोग उनके मालिकों द्वारा नहीं किया जा रहा था, या तो व्हाट्सएप को उनके फोन से अनइंस्टॉल कर दिया गया था या उनका फोन रीसेट कर दिया गया था।

वह व्हाट्सएप अकाउंट जो सक्रिय थे, उन्हें एक अज्ञात नंबर से एक मीडिया फ़ाइल जिसमें वीडियो या तस्वीर थी भेजी गई थी। मीडिया फ़ाइल में स्पाइवेयर था जो डाउनलोड के बाद सक्रिय हो गया। डाउनलोड किया गया स्पाइवेयर फोन को रिमोट सर्विलांस के प्रति संवेदनशील बना कर हैकर को उसकी गतिविधि निगरानी करने में मदद करता है।

विपक्षी दलों ने ऐप को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया

विपक्षी दलों ने ऐप को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए इसकी निंदा की है और इसकी जांच की मांग की है। सत्तारूढ़ भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप हैं । भाजपा की युवा शाखा के पदाधिकारी Devang Dave जिनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने इस अभियान की निगरानी की थी, ने पार्टी की संलिप्तता से इनकार किया।

द वायर की जांच में ऐप की तैनाती में बीजेपी के साथ-साथ निजी कंपनियों Persistent Systems and Mohalla Tech (जो ShareChat नामक एक सेवा संचालित करती है) को फंसाया गया है। कहा जाता है कि भाजपा की युवा शाखा के सदस्यों ने संचालकों की निगरानी की, उन्हें वैचारिक निर्देश दिए गए । द वायर ने बताया कि Mohalla Tech टेक फॉग के प्रबंधन में शामिल था और टेक फॉग द्वारा शेयरचैट का व्यापक रूप से शोषण किया गया था। जांच में पाया गया कि Persistent Systems टेक फॉग के उत्पादन और प्रबंधन में शामिल था। Persistent Systems के भीतर एक आंतरिक स्रोत ने कंपनी की भागीदारी की पुष्टि की, जिसमें Persistent Systems द्वारा विकसित 17,000 फाइलें Tek Fog से जुड़ी थीं।

ऐप पर चर्चा करने के लिए Home Affairs की संसदीय स्थायी समिति की बैठक बुलाई गई

सांसद Derek O’Brien ने ऐप पर चर्चा करने के लिए Home Affairs की संसदीय स्थायी समिति की बैठक बुलाई है। कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट से अपने विशेषज्ञ पैनल के द्वारा आग्रह किया है की ऐप की जांच की जाए । Editors Guild of India condemned ने “महिला पत्रकारों के ऑनलाइन उत्पीड़न की निंदा की, जिसमें लक्षित और संगठित ऑनलाइन ट्रोलिंग के साथ-साथ यौन शोषण की धमकी भी शामिल है” और Tek Fog के “गलत और अपमानजनक digital eco-system ” को तोड़ने और खत्म करने के लिए कदम उठाने की मांग की।

Tek Fog मेसेज कैसे भेजता है ?

टेक फॉग स्वचालित रूप से थोक में बनाए गए अनधिकृत account से लाखों की संख्या में एक साथ संदेश भेज सकता है। इनमें मुख्य रूप से राजनीतिक प्रचार और गाली-गलौज के संदेश शामिल थे।

Tek Fog का उपयोग किसने किया ?

टेक फॉग का उपयोग एक राजनीतिक-कॉर्पोरेट गठजोड़ का हिस्सा है जिसने बड़े राजनीतिक दल भाजपा को फ़ायदा पहुँचाया है।

Tek Fog का मतलब क्या है ?

Tek Fog का मतलब टेक्नालॉजी का धुंआ है।

Tek Fog क्या है ?

टेक फॉग एक ऐसा एप्लिकेशन है जिसका उपयोग कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा गलत सूचना फैलाने के लिए और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर घुसपैठ करने के लिए किया जाता है।

Pawan Toon Cartoon

Must Read

  • लोहिया, अम्बेडकर और बहुजन एकता: क्या 2022 का यूपी चुनाव वक़्त की घड़ी को पीछे कर रही है ?
  • अब उत्तराखंड में फूटा चुनावी बम, फुट-फुट कर रोने लगे भाजपा के हरक सिंह रावत
  • केवल विपक्षी पार्टियों से ही नहीं भाजपा के अंदर भी मुकाबला कर रहे हैं योगी
Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>