Home » story

story

नेहा कथूरिया

पिता के कंधे पर बसता बच्चों के सुख का संसार

नेहा कथूरिया ईश्वर के बाद इस धरती में जो पालन हार है वो हमारे माता पिता ही है। ईश्वर को तो हमने देखा नहीं है लेकिन पग पग में उनकी उपस्थिति को महसूस किया है। माता पिता से ज्यादा हमारा इस दुनिया में कोई...

श्रद्धा पडगांवकर

हौसलों की आकाशगंगा : श्रद्धा पडगांवकर

आज हम एक ऐसी संघर्ष की कहानी सुनाने जा रहे हैं जो आप के रोंगटे खड़े कर सकती है। मुंबई में रहने वाली श्रद्धा पडगांवकर की कहानी साहस और जुनून की जीत की कहानी है जो निस्संदेह आज हज़ारों लड़कियों को अपने लिए...

पिनारायी विजयन

कहानी उस नेता की जिसने विधानसभा में लहराई थी खून से सनी अपनी शर्ट

आज हम चर्चा करने जा रहे हैं एक ऐसे राजनेता की जिसने एक सोची-समझी राजनीतिक दाव के तहत  विधानसभा में खून से सनी अपनी शर्ट लहराई थी और फिर इतने लोकप्रिय हुए कि दुबारा चुनाव जीत गए।

विजया रामचंद्रन

चेन्नई की विजया रामचंद्रन की कहानी

प्रायः समाज में ऑटिज़्म की बीमारी से पीड़ित बच्चों की समस्याओं को उनके ही माँ-बाप के द्वारा अनदेखा कर दिया जाता है। यह सामाजिक विडम्बना ही है कि बच्चों के इन बीमारियों को सामाजिक प्रतिष्ठा से ...

तेजस्वी की शादी

तेजस्वी की शादी के राजनीतिक मायने

देश की मीडिया जगत में एक-दो दिनों से बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की शादी की खबरें अचानक से छा चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तेजस्वी यादव की शादी उनके बचपन के दोस्त और ईसाई परिवार ...

प्रतिभाओं के प्रोत्साहन का मंच बनी निधि वत्स

प्रतिभाओं का मंच बनी निधि वत्स

प्रतिभाओं के प्रोत्साहन का मंच बनी निधि वत्स; प्रतिभाओं के प्रोत्साहन का मंच बनी निधि वत्स

डॉ दीपा दास ने शैक्षिक जगत की अनेक उपलब्धियां हासिल की

संघर्ष से आत्मनिर्भरता तक

खेलने और स्कूल में पढ़ने की उम्र से ही घर की जिम्मेदारी का बोध होना व्यक्तित्व को ठोस बनाता है। छत्तीसगढ़ की बेटी दीपा दास इस बात की जीता जागता प्रमाण है। उनकी जिंदगी संघर्ष और आत्मनिर्भरता के समिश्रण...

लोग मेरा जितना मजाक बनाते गए मैं उतनी ही मजबूत होती चली गयी

By स्वीकृति बचपन से ही मुझे जानवरों से लगाव है। शादी के बाद जब मैं स्थायी रूप से हाजीपुर रहने लगी तब गली के लावारिस कुत्तों की सेवा की इच्छा प्रबल हो गई। पति और ससुराल वालों के सहयोग ने मुझे एक नई उम्...

नाश रजक पम्ब्रा

लावारिस जानवरों को अपने बच्चों की तरह पालती हैं नाश रजक पम्ब्रा

मुंबई की नाश रजक पम्ब्रा आम लोगों से बिल्कुल अलग हैं। ये न सिर्फ अपनी जिंदगी को खुलकर जीना चाहती हैं बल्कि दर्जनों लावारिस कुत्तों, बिल्लियों को अपने बच्चे की तरह प्यार करती हैं। हमसे से ज्यादातर लोग ...

  • 1
  • 2