Home » pyar mohabbat shayari

pyar mohabbat shayari

एक सुन्दर कविता

प्रेमिका के लिए एक सुन्दर कविता

दुआए नीम शबी अपने पाकीज़ा जज़्बों को गवाह बना करअब की बार भी ईद का चांद देखकरमैं दुआ माँगूँ अपने और तुम्हारे साथ कीबस तुम इतना करनाकि जब मेरी आँखों का नमकीन पानीमेरी फैली हथेली पर गिरेतो मेरी दुआए नीम...

मोहब्बत शायरी

मोहब्बत शायरी

मोहब्बत शायरी उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दोना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जायेबशीर बदर और भी दुख हैं ज़माने में मुहब्बत के सिवाराहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवाफ़ैज़ अहमद फ़ैज़ रंजि...

ज़िन्दगी पर शायरी

ग़ुरूर / घमंड पर शायरी

ग़ुरूर / घमंड पर शायरी आसमां इतनी बुलंदी पे जो इतराता हैभूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता हैवसीम बरेलवी शोहरत की बुलंदी भी पल-भर का तमाशा हैजिस डाल पे बैठे हो वो टूट भी सकती हैबशीर बदर अदा आई जफ़ा आई ग़...