Home » pyar dhoka shayari

pyar dhoka shayari

बेवफ़ाई पर शायरी

बेवफ़ाई पर शायरी

इश्क़-ए-रवां की नहर है और हम हैं दोस्तोउस बेवफ़ा का शहर है और हम हैं दोस्तोमुनीर नियाज़ी۔भूलना था तो ये इक़रार किया ही क्यों थाबेवफ़ा तू ने मुझे प्यार किया ही क्यों थानामालूम۔कौन उठाएगा तुम्हारी ये ख़...