Hindi Couple Love Poetry

कब जागोगे!

कब जागोगे!

कब जागोगे! कवि: मिन्हाज रिज़वी रात मैं न्यूज़ देखते देखते कब सो गया मुझे पता ही नहीं चलायह रात मुझ पर बहुत भारी गुज़रीयह मेरा अंतर्द्वंद था कल्पना थी यथार्थ था या मात्र मेरा सपनाबहर हाल जो भी था भयावह थास्शुरुआत महाभारत थी कुरुक्छेत्र का मैदान था दोनों ओर भाई थे लड़ाई का कारण सत्ता …

कब जागोगे! Read More »

शायरी

इश्क़ और मुहब्बत शायरी

मुहब्बत बहुत सुन्दर और अनोखा एहसास है। जब हम किसी के प्यार मैं होते हैं तो उसको सुन्दर लफ़्ज़ों मैं अपने महबूब तक पहुँचाना चाहते हैं। इसका सबसे अच्छा माध्यम शाइरी है। शाइरी आपके लिए एक सबक की तरह है, आप इसके साथ प्यार में जीने के तरीके और जुदाई और मिलन से गुजरने के …

इश्क़ और मुहब्बत शायरी Read More »

शायरी

तस्वीर पर शायरी

कहा तस्वीर ने तस्वीर गर सेनुमाइश है मेरी तेरे हुनर सेअल्लामा इक़बाल۔मैं तेरी टाकूँ तस्वीर टांकों और फिरआसमां से चांद को चलता करूँफ़ैज़ मुहम्मद शेख़۔तेरी तस्वीर से करूँ बातेंहाय मुम्किन नहीं मुलाक़ातेंनामालूम۔मैं कहाँ देखने से थकता हूँतेरी तस्वीर थक गई होगीजून एलिया۔अपने जैसी कोई तस्वीर बनानी थी मुझेमेरे अंदर से सभी रंग तुम्हारे निकलेनामालूम۔मुझे तस्वीर …

तस्वीर पर शायरी Read More »

झील पर शायरी

झील पर शायरी

वो लाला बदन झील में उतरा नहीं वर्नाशोले मुतवातिर इसी पानी से निकलतेमहफ़ूज़ अलरहमान आदिल सामने झील है झील में आसमाँआसमाँ में ये उड़ता हुआ कौन हैफ़ारूक़ शफ़क़ सूख गई जब आँखों में प्यार की नीली झील क़तीलतेरे दर्द का ज़र्द समुंद्र काहे शोर मचाएगाक़तील शिफ़ाई गहिरी ख़मूश झील के पानी को यूं ना छेड़छींटे …

झील पर शायरी Read More »

मोहब्बत शायरी

मोहब्बत शायरी

मोहब्बत शायरी उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दोना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जायेबशीर बदर और भी दुख हैं ज़माने में मुहब्बत के सिवाराहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवाफ़ैज़ अहमद फ़ैज़ रंजिश ही सही दिल ही दिखाने के लिए आआ फिर से मुझे छोड़ के जाने के …

मोहब्बत शायरी Read More »