Home » funny shair o shairi

funny shair o shairi

हास्य शायरी

हास्य शायरी

हास्य शायरी हमने कितने धोके में सब जीवन की बर्बादी कीगाल पे इक तिल देख के उनके सारे जिस्म से शादी कीसय्यद ज़मीर जाफ़री इस की बेटी ने उठा रखी है दुनिया सर परख़ैरीयत गुज़री कि अंगूर के बेटा ना हुआआगाह अ...

बुढ़ापे पर शायरी

बुढ़ापे पर शायरी

बुढ़ापे पर शायरी कहते हैं उम्र-ए-रफ़्ता कभी लोटती नहींजा मय-कदे से मेरी जवानी उठा के लाअबद अलहमेद अदम बूढ़ों के साथ लोग कहाँ तक वफ़ा करेंबूढ़ों को भी जो मौत ना आए तो क्या करेंअकबर इला आबादी सफ़र पीछे ...