Home » ego poetry

ego poetry

व्यक्तित्व पर शायरी

व्यक्तित्व पर शायरी

तेरा वजूद तेरी शख़्सियत कहानी क्याकिसी के काम ना आए तो ज़िंदगानी क्यादिनेश कुमार۔शख़्सियत उसने चमकदार बना रखी हैज़हनीयत क्या कहें बीमार बना रखी हैगोविंद गुलशन۔तमाम शख़्सियत उस की हसीं नज़र आईजब उस के ...