Home » desh bhakti poetry in hindi

desh bhakti poetry in hindi

flower

देशभक्ति शायरी

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैदेखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में हैबिस्मिल अज़ीमाबादी हम अमन चाहते हैं मगर ज़ुलम के ख़िलाफ़गर जंग लाज़िमी है तो फिर जंग ही सहीसाहिर लुधियानवी नक़्शा लेकर हा...