ख़ुद्दारी पर शायरी

रूठ जाने पर शायरी

रूठने पर बेहतरीन शायरी का इंतिख़ाब पढ़ें और पसंद आने पर दोस्तों से साथ शेयर करें मुझको आदत है रूठ जाने कीआप मुझको मना लिया कीजियेजून ईलिया हाय वो लोग हमसे रूठ गएजिनको चाहा था ज़िंदगी की तरहजावेद कमाल रामपूरी ज़रा रूठ जाने पे इतनी ख़ुशामदक़मर तुम बिगाड़ोगे आदत किसी कीक़मर जलालवी ना जाने रूठ …

रूठ जाने पर शायरी Read More »