Home » beti

beti

bhumi rai

क्षितिज के आगे : आत्मनिर्भर बेटी

बेटियां शादी के बाद पति के आंगन में बंद पिंजरे का तोता होती है। इसलिए परायी भी होती है। इस परम्परागत मानसिकता ने हमे हमारे ही बेटियों के लिए पराया बना दिया है। इस मानसिकता से हमारा समाज इस कदर सड़ चुक...

अंजू गुप्ता/anju gupta

“आंगन की आकाशगंगा”

बेटी बोझ नहीं होती, हम ही उसके पैरों में बंधन लगाए रखते हैं।  बेटी को आँगन के दहलीज को लांघने दीजिये वो आकाश गंगा बन उभरेगी, और आप मे घर में अमृत की वर्षा करेगी। वास्तव में जो बेटी आर्थिक तौर पर ...