bap beti par shayari

बेटी पर शायरी

बेटी पर शायरी

मीठी मीठी प्यारी सी कहानियां हैंबेटियां तू सच्चे रब की मेहरबानीयां हैंमुबश्शिर साद۔महकता रहता है दिल का जहान बेटी सेज़माने भर में बढ़ी मेरी शान बेटी सेज़रूरी ये नहीं बेटों से नाम रोशन होमेरे नबीﷺ का चला ख़ानदान बेटी सेमुनव्वर राना۔फिर आज देखने आएँगे लोग बेटी कोफिर आज करब से मुझको गुज़ारा जाएगाख़ालिद नदीम शानी …

बेटी पर शायरी Read More »

दहेज़ पर शायरी

दहेज़ पर शायरी

देखी जो घर की ग़ुर्बत तो चुपके से मर गईइक बेटी अपने बाप पे एहसान कर गईनदीम भाभा۔जहेज़ मांग रहे हो ग़रूर-ओ-क़हर के साथमुझे कफ़न भी दिला दो , क़लील ज़हर के साथनामालूम۔कहाँ से आई है लोगो, बताओ रस्म-ए-जहेज़ख़ुदा के दीन में इस का कोई सुराग़ नहींनामालूम۔जहेज़ मांग रहे हो, हया नहीं आतीअगर तुम्हें है …

दहेज़ पर शायरी Read More »