व्यक्तित्व पर शायरी

व्यक्तित्व पर शायरी

तेरा वजूद तेरी शख़्सियत कहानी क्याकिसी के काम ना आए तो ज़िंदगानी क्यादिनेश कुमार۔शख़्सियत उसने चमकदार बना रखी हैज़हनीयत क्या कहें बीमार बना रखी हैगोविंद गुलशन۔तमाम शख़्सियत उस की हसीं नज़र आईजब उस के क़तल की अख़बार में ख़बर आईअज़हर अनाएती हमारी शख़्सियत क्या शख़्सियत हैहर इक तेवर दिखावे की परत हैकंवल ज़ियाई۔कितना नीचे गिरा …

व्यक्तित्व पर शायरी Read More »