पति पत्नी के बीच प्यार की शायरी

ख़ामोशी पर शायरी

ख़ामोशी पर शायरी

मुस्तक़िल बोलता ही रहता हूँकितना ख़ामोश हूँ मैं अंदर सेजून ईलिया हम लबों से कह ना पाए उनसे हाल-ए-दिल कभीऔर वो समझे नहीं ये ख़ामुशी क्या चीज़ हैनिदा फ़ाज़ली आपने तस्वीर भेजी मैंने देखी ग़ौर सेहर अदा अच्छी ख़मोशी की अदा अच्छी नहींजलील मानक पूरी इलम की इबतिदा है हंगामाइलम की इंतिहा है ख़ामोशीफ़िर्दोस गयावी …

ख़ामोशी पर शायरी Read More »

हास्य शायरी

हास्य शायरी

हास्य शायरी हमने कितने धोके में सब जीवन की बर्बादी कीगाल पे इक तिल देख के उनके सारे जिस्म से शादी कीसय्यद ज़मीर जाफ़री इस की बेटी ने उठा रखी है दुनिया सर परख़ैरीयत गुज़री कि अंगूर के बेटा ना हुआआगाह अकबर दबे नहीं किसी सुल्ताँ की फ़ौज सेलेकिन शहीद हो गए बीवी की नौज …

हास्य शायरी Read More »

घमंड पर शायरी

घमंड पर शायरी

आसमां इतनी बुलंदी पे जो इतराता हैभूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता हैवसीम बरेलवी शोहरत की बुलंदी भी पल-भर का तमाशा हैजिस डाल पे बैठे हो वो टूट भी सकती हैबशीर बदर अदा आई जफ़ा आई ग़रूर आया हिजाब आयाहज़ारों आफ़तें लेकर हसीनों पर शबाब आयानूह नार्वे वो जिस घमंड से बिछड़ा, गिला …

घमंड पर शायरी Read More »