Home » गैंगस्टर शायरी

गैंगस्टर शायरी

व्यक्तित्व पर शायरी

व्यक्तित्व पर शायरी

तेरा वजूद तेरी शख़्सियत कहानी क्याकिसी के काम ना आए तो ज़िंदगानी क्यादिनेश कुमार۔शख़्सियत उसने चमकदार बना रखी हैज़हनीयत क्या कहें बीमार बना रखी हैगोविंद गुलशन۔तमाम शख़्सियत उस की हसीं नज़र आईजब उस के ...

कारवां पर शायरी

कारवां पर शायरी

ये किस मुक़ाम पे पहुंचा है कारवान वफ़ाहै एक ज़हर सा फैला हुआ फ़िज़ाओं मेंअय्यूब साबिर चला जाता है कारवान-ए-नफ़सना बाँग-ए-दिरा है ना सौत-ए-जरसवहशतध रज़ा अली कलकत्वी अजल ने लूट लिया आके कारवान हयातसुना ...