Home » खूबसूरत दोस्ती शायरी

खूबसूरत दोस्ती शायरी

flower

इज़्ज़त पर शायरी

शहर-ए-सुख़न में ऐसा कुछ कर इज़्ज़त बन जायेसब कुछ मिट्टी हो जाता है इज़्ज़त रहती हैअमजद इस्लाम अमजद आपकी कौन सी बढ़ी इज़्ज़तमैं अगर बज़म में ज़लील हुआमोमिन ख़ां मोमिन अपने लिए ही मुश्किल हैइज़्ज़त से ज...

मदद पर शायरी

मदद पर शायरी

किसी को कैसे बताएं ज़रूरतें अपनीमदद मिले ना मिले आबरू तो जाती हैनामालूम हम चराग़ों की मदद करते रहेऔर इधर सूरज बुझा डाला गयामनीष शुक्ला हमारे ऐब में जिससे मदद मिले हमकोहमें है आजकल ऐसे किसी हुनर की तला...

दुआ पर शायरी

दुआ पर शायरी

औरों की बुराई को ना देखूं वो नज़र देहाँ अपनी बुराई को परखने का हुनर देख़लील तनवीर हया नहीं है ज़माने की आँख में बाक़ीख़ुदा करे कि जवानी तेरी रहे बेदाग़अल्लामा इक़बाल अभी राह में कई मोड़ हैं कोई आएगा क...

इल्म पर शायरी

इल्म पर शायरी

मज़हबी बेहस मैंने की ही नहींफ़ालतू अक़ल मुझमें थी ही नहींअकबर इला आबादी ये इलम का सौदा ये रिसाले ये किताबेंइक शख़्स की यादों को भुलाने के लिए हैंजां निसार अख़तर इल्म में भी सुरूर है लेकिनये वो जन्नत ह...

पत्थर पर शायरी

मुहब्बत पर शायरी

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दोना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जायेबशीर बदर और भी दुख हैं ज़माने में मुहब्बत के सिवाराहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवाफ़ैज़ अहमद फ़ैज़ रंजिश ही सही दिल ह...