Home » खूबसूरत गुड मॉर्निंग शायरी

खूबसूरत गुड मॉर्निंग शायरी

हक़ पर शायरी

हक़ पर शायरी

सारी गवाहियाँ तो मेरे हक़ में आ गईंलेकिन मेरा बयान ही मेरे ख़िलाफ़ थानफ़स अंबालवी उसी को जीने का हक़ है जो इस ज़माने मेंउधर का लगता रहे और इधर का हो जायेवसीम बरेलवी मैं दे रहा हूँ तुझे ख़ुद से इख़तिला...

पत्थर पर शायरी

मुहब्बत पर शायरी

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दोना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जायेबशीर बदर और भी दुख हैं ज़माने में मुहब्बत के सिवाराहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवाफ़ैज़ अहमद फ़ैज़ रंजिश ही सही दिल ह...