Home » खामोशी शायरी

खामोशी शायरी

सूरज पर शायरी

कॅरोना वायरस पर शायरी

कॅरोना वायरस पर शायरी तलाश-ए-मुहब्बत में घर बैठे रोनाकॅरोना कॅरोना को बस भी करो नाअरशद सईद शहर के हालात को हल्का ना ले ।देख मेरी बात को हल्का ना ले ।۔अब मुहाफ़िज़ हैं समाजी दूरियाँफ़ासलों की घात को हल...