Home » इंतजार पर शायरी

इंतजार पर शायरी

इंतज़ार पर शायरी

इंतज़ार पर शायरी

माना कि तेरी दीद के काबिल नहीं हूँ मैंतू मेरा शौक़ देख, मेरा इंतिज़ार देखअल्लामा इक़बाल۔मुंतज़िर किस का हूँ टूटी हुई दहलीज़ पे मैंकौन आएगा यहां कौन है आने वालाअहमद फ़राज़۔शायद तुम आओ मैंने इसी इंतिज़ा...

पत्थर पर शायरी

पत्थर पर शायरी

दिल पत्थर के लब पत्थर केजिसको देखो सब पत्थर केकृष्ण परवेज़۔पत्थर के ख़ुदा पत्थर के सनम पत्थर के ही इन्सां पाए हैंतुम शहर-ए-मोहब्बत कहते हो हम जान बचा कर आए हैंसुदर्शन फ़ाकिर۔तमाम फेंके गए पत्थरों पे भ...