Home » आँखों की तारीफ में शायरी

आँखों की तारीफ में शायरी

friends

आँखों पर शायरी

तुम्हारी आँखों की तौहीन है ज़रा सोचोतुम्हारा चाहने वाला शराब पीता हैमुनव्वर राना लोग कहते हैं कि तू अब भी ख़फ़ा है मुझसेतेरी आँखों ने तो कुछ और कहा है मुझसेजांनिसार अख़तर तेरी आँखों का कुछ क़सूर नहींह...