Home » Blog » भाजपा ने योगी जी के बाद मनोहर पर्रिकर के बेटे को नहीं दिया टिकट ! बवाल पर बवाल

भाजपा ने योगी जी के बाद मनोहर पर्रिकर के बेटे को नहीं दिया टिकट ! बवाल पर बवाल

उत्पल पर्रिकर/BJP
उत्पल पर्रिकर/BJP

हाय राम ! भाजपा योगी के बाद अब गोवा में मनोहर पर्रिकर के बेटे के साथ कर रही मनमानी, नहीं दे रही टिकट! खबर है कि भाजपा गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे को टिकट नहीं देने जा रही है। इस बीच केजरीवाल ने ‘आप’ में शामिल होने का उन्हें न्योता तक दे डाला। जिन पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव होने की घोषणा हो चुकी है उसमें गोवा भी शामिल है। यहाँ 14 फरवरी मतदान होने हैं। गोवा में 40 विधानसभा सीट है। गोवा में बढ़ रही राजनीतिक हलचलों के बीच खबर आ रही है कि गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के पूर्व रक्षा मंत्री दिवंगत मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर को बीजेपी ने टिकट देने से मना कर दिया।

उत्पल के पिता मनोहर पर्रिकर की गिनती गोवा में बीजेपी के सबसे लोकप्रिय नेता में होती रही। उनकी ईमानदारी और सादगी की दाद पूरे देश में दी जाती रही। मनोहर पर्रिकर लंबे समय तक गोवा के मुख्यमंत्री रहे थे एवं देश के लोकप्रिय रक्षामंत्री भी रहे। वो पांच बार पणजी सीट से विधानसभा चुनाव जीते थे। इसलिए इस क्षेत्र में उनकी गहरी लोकप्रियता है। यही कारण है कि उनके निधन के बाद उनके बेटे उत्पल भी पणजी से ही टिकट चाहते हैं।

बीजेपी ने टिकट देने से साफ़ मना कर दिया

लेकिन बीजेपी ने उन्हें टिकट देने से मना कर दिया। इंडिया टुडे के अनुसार उत्पल पर्रिकर को भाजपा टिकट नहीं देगी। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को पार्टी ने गोवा चुनाव का इन-चार्ज बनाया है। इस मसले पर उन्होंने पार्टी का रुख साफ कर दिया है। और उत्त्पल को टिकट देने से मना कर दिया है।

मौके का तकाज़ा समझने वाले आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने बिना देरी किए उत्पल पर्रिकर को अपनी पार्टी में शामिल होने का न्योता तक दे दिया है। उन्होंने कहा है कि आम आदमी पार्टी मनोहर पर्रिकर का सम्मान करती है। उनके बेटे अगर पार्टी में शामिल हो जाए तो उनका सम्मान किया जाएगा और उन्हें पणजी सीट से ही चुनाव लड़ने के टिकट दिया जाएगा।

बीजेपी पणजी से बाबुश मोनसेरेट (Atanasio Monserrate) को टिकट देगी

इंडिया टुडे कि माने तो बीजेपी पणजी से बाबुश मोनसेरेट (Atanasio Monserrate) को टिकट देने जा रही है। 2019 में जब मनोहर पर्रिकर का निधन हुआ था तब बीजेपी ने इस सीट से उनके बेटे को टिकट न देकर सिद्धार्थ श्रीपाद कुंकलिएन्कर को टिकट दिया था। जो चुनाव हार गए। उनको उस चुनाव में कांग्रेस के बाबुश मोनसेरेट हराया था। चुनाव परिणाम के बाद जब कांग्रेस के 10 विधायक पार्टी से बगावत कर बीजेपी में शामिल हुए तो बाबुश भी उसमें शामिल थे। वर्तमान में पार्टी कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए बाबुश मोनसेरेट (Atanasio Monserrate) को टिकट देना चाहती है। इतना ही नहीं भाजपा की सरकार ने बाबुश की पत्नी जेनिफर को सरकार में अहम राजस्व विभाग भी दिया गया।

उत्पल पर्रिकर बनेंगे निर्दलीय उम्मीदवार

सूत्रों की माने तो उत्पल पर्रिकर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पणजी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। उन्होंने आम आदमी पार्टी में शामिल हो कर चुनाव लड़ने के बजाए निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। हो सकता है ऐसा उन्होंने अपने पिता की छवि को ध्यान में रख कर निर्णय लिया है। खबर आ रही है कि उत्पल पर्रिकर पणजी में घर-घर जाकर प्रचार करना भी शुरू कर दिया है।

अगर इस सीट से उत्पल पर्रिकर को टिकट मिल जाती तो हो सकता है वो अपने पिता मनोहर पर्रिकर की लोकप्रियता का उत्तराधिकारी बन जाए। फिर पणजी से जीत के बाद गोवा में भाजपा के एक कद्दावर नेता के रूप में उनकी छवि बन जाए जैसे उनकी पिता मनोहर पर्रिकर की रही।

भाजपा की परेशानी यह है कि बाबुश पणजी के सिटिंग विधायक हैं और उनकी पत्नी तालेगांव की सिटिंग विधायक हैं। बाबुश के बेटे पणजी के मेयर हैं। ऐसे में उनको गोवा से टिकट नहीं देना पार्टी के लिए महंगा पड़ सकता है।

Learn More

Aaj Ka Cartoon By Pawan Toon

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>