Home » Blog » कर्नाटक में हिजाब(Hijab) बनाम भगवा पट्टे पर हिंसक झपड़

कर्नाटक में हिजाब(Hijab) बनाम भगवा पट्टे पर हिंसक झपड़

hijab case
कर्नाटक में हिजाब बनाम भगवा पट्टे पर हिंसक झपड़

कर्नाटक इन दिनों हिंसा की चपेट में है। मुस्लिम छात्राओं के हिजाब (Hijab) पहन कर कॉलेज आने के विरोध में कर्नाटक में हिंसक झड़प होने की खबर आ रही है। हिजाब के मामले पर तनाव इस क़दर बढ़ गया है कि आज सुबह कर्नाटक के कुछ कॉलेजों में हिजाब पहनी छात्राओं और भगवा पट्टे पहने छात्रों के बीच पथराव तक हो चुकी है। इसके बाद कुछ स्कूल और कॉलेजों को ऐतिहातन बंद करने का फैसला लिया गया है।

कर्नाटक के शिवमोगा और बन्नाहट्टी के कुछ कॉलेजों में पथराव होने की खबर आ रही है। भगवा पट्टे पहने छात्रों के झुंड और कुछ छात्राओं के बीच जमकर नारेबाजी हुई और फिर पत्थरबाजी हुई। हिंसक झड़पों की कई वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। छात्राओं का आरोप है कि नारेबाजी और पत्थरबाजी में कॉलेज के छात्रों के साथ-साथ बाहरी लोग भी शामिल हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि अब बन्नाहट्टी और शिवमोगा में स्थिति नियंत्रण में है।

हिजाब बनाम भगवा पट्टे की लड़ाई अब किसी गम्भीर हिंदू-मुस्लिम तनाव का संकेत दे रही है। आज कर्नाटक के मांन्ड्या से एक और दुखद खबर आई है। यहां के प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज में एक हिजाब (Hijab) पहनी मुस्लिम छात्रा जब अपने कॉलेज पहुंची तो भगवा पट्टे डाले लकड़ों का झुंड उस अकेली लड़की के सामने नारेबाजी करने लगी। लड़कों ने उस हिजाब पहनी लड़की के सामने नारेबाजी की, तरह-तरह की टिप्पणियां की और अभद्र व्यवहार भी किया। भगवा पट्टे डाले लड़कों का झुंड उस हिजाब पहनी लड़की के नजदीक आ कर “जय श्री राम” के नारे लगाने लगे। मुस्लिम लड़की ने भी जवाब में “अल्लाह हू अकबर” के नारे लगाए।

हालांकि कर्नाटक हाईकोर्ट में हिजाब (Hijab) पहनकर आने पर रोक लगाने के मामले में सुनवाई हो रही है। न्यायालय में आज हुई सुनवाई में कहा है कि वह इस मामले में क़ानून के हिसाब से ही फैसला करेगी, अदालत किसी तरह से भावनात्मक दवाब में नहीं आ सकती।

दरअसल, कर्नाटक के उडुपी ज़िले के एमजीएम कॉलेज में कुछ छात्र भगवा पगड़ी और शॉल पहने अंदर आने लगे तो उन्हें अंदर आने से रोक दिया गया। इधर कुछ हिजाब (Hijab) पहने छात्राएं कॉलेज में आई हुई थीं। इसके बाद से ही दोनों पक्षों में टकराव शुरू हुआ है।

इस कॉलेज में मुस्लिम लड़कियां पहले से ही हिजाब पहनकर आती हैं। इसी के विरोध में भगवा
शॉल ओढ़े छात्र कॉलेज में आना चाह रहे थे जिसे रोक गया।

प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेजों में यूनिफॉर्म जरूरी करने के बाद भड़का मामला

दरअसल, कर्नाटक सरकार के एक फैसले के तहत प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेजों में यूनिफॉर्म को अनिवार्य किया गया है। इस फैसले के तहत सरकारी कॉलेजों के डेवलपमेंट कमेटिया यूनिफॉर्म के डिजाइन के बारे में निर्णय लेगी। तथा निजी संस्थान को यह अधिकार दिया गया है कि कॉलेजों में यूनिफॉर्म लागू होगा या नहीं।

इस निर्णय के बाद उडुपी के एक सरकारी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज की लगभग आधा दर्जन छात्राओं ने हिजाब (Hijab) उतारने से इनकार कर दिया।
इसी के विरोध में कुछ छात्र भगवा शॉल पहन कर कॉलेज आने लगे जिसे कॉलेज प्रशासन के द्वारा रोक दिया गया। इसके बाद हिंसा भड़क गई।

कॉलेज को बंद करने का लिया गया निर्णय

बढ़ते तनाव को देखते हुए इस कॉलेज प्रिंसिपल डॉ देवदास भट्ट ने इस मुद्दे पर हाईकोर्ट के फैसला आने तक कॉलेज बंद करने की घोषणा की है। इससे हिंसा को रोकने में मदद मिल सकती है।

हिजाब (Hijab) किसे कहते हैं?

कुरान के अनुसार स्त्री और मर्द के बीच के पर्दे को हिजाब कहते हैं।

क्या होता है हिजाब (Hijab)?

हिजाब से महिलाएँ सर की बालों को पूरी तरह से ढकती हैं। यानी मुस्लिम महिलाएं बालों को ढकने के लिए हिजाब पहनती हैं। इससे महिलाओं के सिर और गर्दन को ढकना होता है।

Pawan Toon Cartoon

Read More

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>