आशुतोष

काशीराम ने पत्रकार आशुतोष को मारा था थप्पड़!

बड़ा रोचक वाक़िया है बीएसपी संस्थापक कांशीराम के जीवन से जुड़ा। कांशीराम अपने समय मे देश के सर्वाधिक लोकप्रिय दलित नेता माने जाते थे। कहा जाता है कि मायावती को राजनीति में लाने वाले और उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के पीछे इन्हीं की सोच औऱ मेहनत है। लेकिन इनके साथ ही दबी जबान से लोग कांशीराम और मायावती के रिश्ते की भी बात कहा करते हैं। पत्रकारों में इस बात को लेकर कौतूहल बना रहा।

कांशीराम ने क्यों मारा था पत्रकार को थप्पड़ ?

यह बात 1996 की है जब सियासी गलियारों में कांशीराम और मायावती के रिश्तों को लेकर अप्रत्यक्ष रूप से बात होने लगी थी। मायावती की पहचान एक मुख्यमंत्री के रूप में हो चुकी थी।मायावती03-06-1995 से 18-10-1995 तक यानी चार महीने तक मुख्यमंत्री रही फिर इनकी सरकार गिर जाने की वजह से वहां राष्ट्रपति शासन लागू था। लाजमी है मायावती के मुख्यमंत्री बन जाने के बाद उनकी लोकप्रियता में भारी इजाफा हुआ था, लोग उनके निजी जीवन के बारे में जानने के लिए जागरूक थे।

एक दिन कांशीराम के आवास के बाहर पत्रकाराें की भीड़ जमा थी। वो पत्रकारों से बात करने के लिए मना कर चुके थे और पत्रकारों को उनके आवास से लौट जाने के भी कहा जा चुका था। उन्हें इस बात का अंदेशा था कि पत्रकार उनसे मायावती के बारे में सवाल पूछ सकते हैं। हालांकि पत्रकारिता में सार्वजनिक जीवन जीने वालों से उनके निजी जीवन के बारे में सवाल पूछने से बचना चाहिए। लेकिन विवादित सवाल पूछ कर अपनी पत्रकारिता को चर्चित करने की बीमारी को नई नहीं है।

यह वही पत्रकार है जो आगे चलकर आम आदमी पार्टी के नेता बने


कांशीराम के इनकार करने के बावजूद उनके आवास से जर्नलिस्ट नहीं हटे और कमरे में घुसकर इंटरव्‍यू करने को उतारू हो गए। कुछ लोगो का कहना है कि कमरे में कांशीराम के साथ मायावती भी मौजूद थीं। गुस्से में कांशीराम को घर से बाहर निकलने लगे। इधर पत्रकारों में बाइट लेने की होड़ लगी। इसी दौरान नाराज कांशीराम ने गुस्से में अपने सबसे नजदीक पत्रकार को एक जोरदार थप्‍पड़ जड़ दिया। इसके बाद उनके कार्यकर्ताओं ने मौजूद महिला पत्रकारों के साथ सभी को धक्‍के देकर बाहर कर दिया। बाद में इस पर काफी विवाद भी हुआ। थप्पड़ मारने का वीडियो जमकर वायरल हुआ।

कांशीराम ने किस पत्रकार को मारा था थप्पड़ ?

कांशीराम ने जिस जर्नलिस्ट जोरदार थप्पड़ मारा था उसका नाम है आशुतोष। ये वही पत्रकार है जो आगे चलकर आम आदमी पार्टी के नेता बने। दरअसल, थप्पड़ खाने के बाद पत्रकार आशुतोष बहुत ही चर्चित हो गए। इनके करियर का ग्राफ चढ़ने लगा। यह माना जाने लगा कि आशुतोष हर सवाल पूछने की हिम्मत रखते हैं। कांशीराम एक दलित नेता थे। राजनीति में उनका कद भी बहुत बड़ा था। मायावती मुख्यमंत्री रह चुकी थीं। इसके बावजूद आशुतोष ने इस तरह के सवाल पूछने की हिम्मत दिखाई। इन थप्पड़-कांड के बाद कांशीराम की काफी आलोचना हुई। चैनलों पर बार-बार यही वीडियो दिखाया गया।

अन्य पढ़ें

Leave a Comment

Your email address will not be published.