Home » Blog » जदयू में कलह : टूट सकती है पार्टी!

जदयू में कलह : टूट सकती है पार्टी!

जदयू में कलह
जदयू में कलह

जदयू के भीतरी कलह अपने चरम पर है। ललन सिंह के आज के बयान की अगर समीक्षा की जाए तो यह स्पष्ट समझ में आने लगेगा कि पार्टी के गम्भीर अंर्तकलह से जूझ रहा है। यूपी चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन के सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने आरसीपी सिंह के खिलाफ भी टिप्पणी की। आरसीपी सिंह का नाम लेना ही मामले की गम्भीरता को प्रदर्शित करता है।

ललन सिंह के बयान में दिखा रोष

यूपी चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन पर टिप्पणी करते हुए ललन सिंह ने पटना में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जदयू अकेले ही यूपी में चुनाव लड़ेगी। पार्टी का भाजपा के।साथ गठबंधन नहीं हो पाया। पार्टी बहुत ही जल्द चुनाव प्रचार के लिए जल्दी ही रूपरेखा तैयार करेगी। पत्रकारों ने जब ललन सिंह से पूछा कि यह निर्णय लेने में इतनी देरी क्यों हुई तो उन्होंने कहा कि “यह आरसीपी सिंह की हार है। भाजपा से बात करने के लिए हम लोगों ने तो अधिकृत कर दिया था।

माननीय मंत्री श्री आरसीपी साहब तीन महीने से भाजपा के साथ गठबंधन के लिए पार्टी को भरोसा दे रहे थे। उसी के कारण विलंब हुआ। ललन सिंह ने आरसीपी सिंह के ईमानदारी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि अब उसमें कितनी ईमानदारी और सच्चाई है या भाजपा कितनी ईमानदार है यह तो वही जाने।भाजपा के साथ बातचीत में हम लोगों का कोई नहीं था।

सबसे बड़ी बात भाजपा के साथ गठबंधन की बात असफल रहने पर आरसीपी का नाम लेकर उन्हें असफल बताना अंतर्कलह का स्पष्ट संकेत है। ललन सिंह के बयान से ऐसा लगता है कि गठबंधन न् होने के लिए भाजपा से अधिक दोषी आरसीपी को ही ठहराया जा रहा है।

ललन सिंह ने कहा कि यूपी में जदयू 26 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आज पहले चरण के उम्मीदवारों का लिस्ट भी जारी किया गया। इस चुनाव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी चुनाव प्रचार कर सकते हैं।

आरसीपी सिंह के राज्यसभा की सदस्यता का कार्यकाल खत्म हो रहा है

पार्टी के किसी सीनियर नेता के द्वारा दूसरे किसी सीनियर नेता का नाम लेकर आरोप लगाना कलह की निशानी है। इस बीच आरसीपी सिंह के राज्यसभा सदस्यता का कार्यकाल इसी साल ही खत्म होने जा रहा है। अब देखना यह होगा कि अबकी बार राज्यसभा में जाने के लिए क्या जदयू आरसीपी सिंह को टिकट देगी या नहीं।

Pawan Toon Cartoon

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>