electric car in india

भारत में इलेक्ट्रिक वाहन क्यों ज़रूरी ? | Electric Vehicle In India

दुनिया भर में  इलेक्ट्रिक कारों(electric car) और वैन की मांग में 2022  में बहुत ज़्यादा विर्धि होने वाली  है।पिछले वर्ष इलेक्ट्रिक कार पंजीकरण 550,0000   के करीब थे, उम्मीद है की 2022 ये दुगुना हो जाएगा।

यूरोपीय संघ का कहना है कि परिवहन क्षेत्र ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन का सबसे बड़ा कारण है। अगर हमें प्रदूषण कम करना है तो हमें पेट्रोल से चलने वाले वाहनों की संख्या पर काम करना होगा। इसलिए इलेक्ट्रिक कार को प्रमोट करना एक बढ़िया विकल्प है।

हाल ही में प्रस्तावित कानून में कारों से CO2 उत्सर्जन में 55% और वैन में 50% की कटौती करने का लक्ष्य दिया गया है। यह लक्ष्य 2030-2035 तक पूरा कर लेना है। कारों और वैन से CO2 उत्सर्जन को पूरी तरह से ख़तम करने का भी प्रस्ताव पारित किया गया  है। इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को अच्छी तरह बढ़ावा देना होगा और इश्तिहार में  वृद्धि की आवश्यकता होगी।

इलेक्ट्रिक कारें (electric car) कैसे काम करती हैं?

इलेक्ट्रिक कारें बैटरी से चलती हैं। जिसे चार्ज प्वाइंट में प्लग लगा कर चार्ज किया जाता है। यह ग्रिड से बिजली लेकर काम करती हैं। बिजली रिचार्जेबल बैटरी में संग्रहित होती  है  जो कार की  इलेक्ट्रिक मोटर को शक्ति प्रदान करती है और फिर उससे पहियों को घुमाया जाता  है। पेट्रोल या डीज़ल से चलने वाले इंजन की तुलना में इलेक्ट्रिक कारें ज़्यादा तेज गति से चलती हैं – इसे  वे ड्राइव करने में हल्का महसूस होता है ।

क्या इलेक्ट्रिक कारों EV में गियर होते हैं?

लगभग तमाम इलेक्ट्रिक कारें स्वचालित  automatic होती हैं इनमें गियर बदलने के लिए क्लच नहीं होता है बल्कि गियरबॉक्स भी नहीं  होता है।

इलेक्ट्रिक वाहन (EV), जिन्हें बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन भी कहा जाता है, में आंतरिक दहन इंजन के बजाय एक इलेक्ट्रिक मोटर होती है। वाहन एक बड़े कर्षण बैटरी पैक से इलेक्ट्रिक मोटर को शक्ति प्रदान करता है। इसे वॉल आउटलेट या चार्जिंग डिवाइस में प्लग करके चार्ज किया जाता है। इसे इलेक्ट्रिक व्हीकल सप्लाई इक्विपमेंट (EVSE) कहा जाता है। चूंकि यह बिजली से संचालित होता है, इसलिए इसमें विशिष्ट तरल ईंधन घटक नहीं होते हैं, जिसके कारण यह प्रदूषण नहीं फैलाता है।

इलेक्ट्रिक वाहन (electric vehicle) के प्रमुख घटक

  • इलेक्ट्रिक ड्राइव वाहन में बिजली से चार्ज होने वाली बैटरी होती है. ये बैटरी  वाहन के पुर्ज़ों को बिजली प्रदान करती है।
  • वाहन को बाहरी बिजली से  चार्ज करने के लिए चार्ज पोर्ट ट्रैक्शन बैटरी पैक को कनेक्ट करता  है।
  • डीसी कनवर्टर एक ज़रूरी यंत्र है।  यह डिवाइस उच्च-वोल्टेज डीसी पावर को ट्रैक्शन बैटरी पैक से इलेक्ट्रिक कार के पुर्ज़ों  को चलाने और सहायक बैटरी को रिचार्ज करने के लिए उतना  लो-वोल्टेज डीसी पावर में परिवर्तित करता है जितनी ज़रूरत होती है।
  • ट्रैक्शन बैटरी पैक की शक्ति का उपयोग इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन मोटरसे  होता है  यह मोटर वाहन के पहियों को चलाती है।
  • चार्जिंग उपकरण के साथ  ऑनबोर्ड चार्जर संचार करता है और चार्ज करते समय बैटरी की विशेषताओं जैसे करंट, तापमान, वोल्टेज, और चार्ज की स्थिति की निगरानी करता है।
  • पावर इलेक्ट्रॉनिक्स कंट्रोलर वह यंत्र है जो  यूनिट ट्रैक्शन बैटरी द्वारा दी गई विद्युत ऊर्जा के प्रवाह का प्रबंधन करती है.  इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन  का काम ये भी है के यह मोटर की गति को को ही नहीं उससे  उत्पन्न होने वाले टॉर्क को भी  नियंत्रित करता  है।
  • थर्मल सिस्टम एक कूलिंग यंत्र है यह  इलेक्ट्रिक मोटर, इंजन, पावर इलेक्ट्रॉनिक्स और अन्य पुर्ज़ों के उचित तापमान रेंज को बनाए रखने में सहायक है।
  • इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन मोटर द्वारा उपयोग के लिए बिजली स्टोर करने के लिए ट्रैक्शन बैटरी पैक का होना ज़रूरी है।
  • ट्रांसमिशन पहियों को चलाने के लिए इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन मोटर से यांत्रिक शक्ति को स्थानांतरित करता है।

इलेक्ट्रिक कार (electric car) के फायदे

इलेक्ट्रिक वाहन को रिचार्ज करना बेहद आसान है।  आप एक साधारण घरेलू सॉकेट से अपनी  कार को चार्ज कर सकते हैं। इसके लिए आपको कहीं और जाने की आवश्यकता नहीं है।

इन कारों को बहुत कम कीमतों पर खरीदा जा सकता है। आप  इलेक्ट्रिक कार खरीद कर ग्रीन में जाने की पहल करते हैं सरकार इलेक्ट्रिक कार खरीदने पर सब्सिडी भी देती है। यह आपके जीवन में पैसे बचाने का एक शानदार तरीका हो बन सकता  है।

इलेक्ट्रिक कारें पूरी तरह से  बिजली से चलती हैं।आपको कभी भी कोई गैस ,पेट्रोल या डीज़ल खरीदना नहीं पड़ता।अब  ईंधन की कीमतें उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं इस लिए EV एक बेहतर विकल्प है जिससे आपके जेब पर कोई भार नहीं पड़ता । इसका ग्रीन क्रेडेंशियल होना सबसे बड़े फायदे का कारण है। इलेक्ट्रिक कारें 100 प्रतिशत पर्यावरण के अनुकूल होती हैं।

क्या इलेक्ट्रिक कार( electric car ) सुरक्षित है?

इलेक्ट्रिक कार बहुत सुरक्षित होती हैं।  अगर आपकी कार का टकराव हो जाता है तो भी यह  सड़क पर स्थिर बनी रहती है । यदि कोई दुर्घटना होती है तो यह चालक को और कार में सवार अन्य यात्रियों को गंभीर चोटों से बचा सकता है। इसमें  ज्वलनशील ईंधन या गैस नहीं होता इस लिए  इनके फटने की संभावना  नहीं है।

इलेक्ट्रिक कारें का  इंजन बिजली से चलता है  इसलिए इंजनों को लुब्रिकेट करने की कोई आवश्यकता नहीं है। इसके मेंटेनेंस पर बहुत कम खर्च होता है। आपको इसे सर्विस स्टेशन पर भेजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। इलेक्ट्रिक कारें शांत होती हैं इसलिए ध्वनि प्रदूषण पैदा नहीं करतीं।

Read More

Leave a Comment

Your email address will not be published.