Hindi Story

कहानी (story ) कहना सुन्ना तो हमारे जीवन का अभिन्य अंग है। हर ज़माने और हर दौर में कहानियाँ कही जाती रही हैं। thinkerbabu.com पर आपको बेहतरीन कहानियाँ पढ़ने के लिए मिलेंगी। हमारी वेबसाइट के साथ जुड़े रहिये और दोस्तों के साथ साझा भी कीजिये।

Virata Parva

तेलुगु फिल्म ‘विराट पर्वम’ का रिव्यु

लेखक : Dinesh Shrinet तेलुगु फिल्म ‘विराट पर्वम’ तितली के पंखों जैसे नाजुक सपनों के झुलस जाने की कथा है। इसीलिए बहुत ही खूबसूरत और काव्यात्मक दृश्यों से रची गई मगर सपाट कथानक वाली यह फिल्म खत्म होने पर मन में बहुत से सवाल छोड़ जाती है।प्रेम और क्रांति दोनों ही जीवन के सबसे सुंदर …

तेलुगु फिल्म ‘विराट पर्वम’ का रिव्यु Read More »

युग कितने है

सतयुग,त्रेतायुग, द्वापरयुग और कलयुग क्या है? | युग कितने है

सनातन धर्म में धर्म को बहुत ही बारीकी से बताया गया है।इस में समय के भागों यानी काल खंड के बारे में बहुत विस्तार से समझाया गया है। इसमें समय की ऐसी गणनाएँ भी बताई गई हैं जिसे वैज्ञानिक आज भी ढूंढ रहे हैं। इसी तरह इस में हमारे बरह्माण्ड के चार कालखंड के बारे …

सतयुग,त्रेतायुग, द्वापरयुग और कलयुग क्या है? | युग कितने है Read More »

ravish kumar prime time

सड़क के किनारे का घर….| Ravish Kumar

लेखक : Ravish Kumar सड़क के किनारे का घर हर वक्त सफ़र में रहता है। सड़क पर गुज़रने वाली हर गाड़ी के साथ मैं भी सफर करता रहता हूं। मेरे घर की खिड़की के नीचे एक सड़क गुज़रती है।हर दूसरी गाड़ी अपनी आवाज़ के साथ मुझे भी बिठा लेती है और कुछ दूर छोड़ आती …

सड़क के किनारे का घर….| Ravish Kumar Read More »

असलम हसन

आंचलिकता की ओट में | फणीश्वर नाथ रेणु

By असलम हसन फणीश्वर नाथ रेणु रचित मैला आंचल को एक कालजयी उपन्यास का दर्जा प्राप्त है। उसमें पूर्णिया अंचल अपनी समग्रता में चित्रित हुआ है। असलम हसन इस लेख में इस बात को रेखांकित करते हैं कि पूर्णिया में एक बड़ी आबादी मुसलमानों की भी है। वे रेणु की नजरों से कैसे ओझल हो …

आंचलिकता की ओट में | फणीश्वर नाथ रेणु Read More »

egypt history

मिस्र के प्रारंभिक राजवंशीय साम्राज्य की कहानी

मिस्र के प्रारंभिक राजवंशीय साम्राज्य की अवधि 3000-2686 ईसा पूर्व थी । मिस्र के उत्तरी और दक्षिणी भाग 3000 ईसा पूर्व में एक राजा (नॉर्मर / मेन्स) के अधीन एकजुट हो गए, जिसके बाद अगली दो शताब्दियों के लिए विभिन्न क्षेत्रों और स्वदेशी संस्कृतियों का विलय हो गया और इसके आधार पर मिस्र में एक …

मिस्र के प्रारंभिक राजवंशीय साम्राज्य की कहानी Read More »

Dinesh Shrinet

सुनो, बाहर ये हवा की सरसराहट सुनो।

इन दिनों लगातार तेज हवाएं चल रही हैं। आसमान बिल्कुल नीला रहता है या कभी-कभी पूरे आसमान में बादल छितराए हुए दिखते हैं। जैसे नीले पर किसी ने धुनी हुई सफेद रुई फैला दी हो। धूप में अब थोड़ी तेजी है। किसी किशोर होती लड़की सी शरारत, निडरता और छेड़ने का साहस है उसमें। बाहर …

सुनो, बाहर ये हवा की सरसराहट सुनो। Read More »

शार्क टैंक इंडिया

शार्क टैंक इंडिया: स्टार्टअप का रूमानी शो

इन दिनों मैं अपने परिवार के साथ सोनी लिव के शो ‘शार्क टैंक इंडिया’ के एपिसोड लगातार इस तरह देख रहा हूं , जिसे आजकल के बच्चे बिंज वाचिंग कहते हैं । शो दिलचस्प है ! स्टार्टअप के नए आइडियाज , लाखों करोड़ों रुपयों का तुरत फुरत लेनदेन, किसी जादुई सपने का सा रोमांच है, …

शार्क टैंक इंडिया: स्टार्टअप का रूमानी शो Read More »

निएंडरथल हड्डियों की खोज

क्या हम सब पागल हैं? | निएंडरथल हड्डियों की खोज

जर्मनी में निएंडरथल(Neanderthal) घाटी डोसेल नदी के किनारे है। 1856 में एक चूना पत्थर की गुफा में मिली हड्डियों के कारण यह पूरी दुनिया में चर्चित हो गई। और इस घाटी के माध्यम से दुनिया को निएंडरथल का पता दिया। निएंडर घाटी की खोज के बाद से पूरे यूरोप और मध्य पूर्व में निएंडरथल हड्डियां …

क्या हम सब पागल हैं? | निएंडरथल हड्डियों की खोज Read More »

बिग बैंग, डायनासोर की अवधारणा और विज्ञान

बिग बैंग, डायनासोर की अवधारणा और विज्ञान

“जो प्रयोगात्मक रूप से सिद्ध नहीं किया जा सकता है वह अवैज्ञानिक है। कोई भी विज्ञान ऐतिहासिक नहीं हो सकता।” हेनरी गीनेचर पत्रिका के संपादक थे। अगर हेनरी गी सही होते तो अपनी कलम की गति से विज्ञान के कई क्षेत्रों को विज्ञान के दायरे से बाहर कर देते। प्राकृतिक इतिहास के संग्रहालय को अवैज्ञानिक …

बिग बैंग, डायनासोर की अवधारणा और विज्ञान Read More »