अशोक चौधरी ने मानसिक संतुलन खोया

बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ (फैक्टनेब) के मीडिया प्रभारी प्रो. अरुण गौतम ने बिहार विधान परिषद में शिक्षक प्रतिनिधि संजीव कुमार सिंह द्वारा वित्त संपोषित महाविद्यालयों को घाटानुदानित करने पर सरकार का मंतव्य स्पष्ट करने के अनुरोध पर सरकार का पक्ष रखने के क्रम में अशोक चौधरी ने सरकार द्वारा कई बार भौतिक जांच के पश्चात अस्थाई तथा पुनः सभी तथ्यों की जांच के पश्चात स्थाई संबद्धन और विश्वविद्यालयों द्वारा प्रमाणिकता देने के पश्चात सरकारी संकल्पानुसार छात्रों की उत्तीर्णता के आधार पर दिये जा रहें वेतन मद सहायक अनुदान राशि पर प्रश्नचिन्ह लगाया । चौधरी के कथनानुसार संबद्ध महाविद्यालयों के स्थापना ही गलत है , तो क्या चौधरी स्पष्ट कर पायेंगे कि जब शिक्षण संस्थान ही अवैध है तो बिहार विद्यालय परीक्षा समिति और विश्वविद्यालयों द्वारा जारी प्रमाण पत्र वैद्य कैसे होगा ?. 

इलाज की आवश्यकता

 प्रो.गौतम ने कहा कि कालेज सेवा आयोग  और चयन समिति द्वारा अनुसंशित शिक्षकों की सेवा को विश्वविद्यालय  द्वारा अनुमोदन के पश्चात शिक्षको के बारे में अर्नगल व्यक्तव्य रखना परिलक्षित करता है कि अशोक चौधरी अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं , उन्हें इलाज की शख्त  आवश्यकता है ।               

प्रो. गौतम ने बताया कि श्री चौधरी के व्यक्तव्य से संबद्ध महाविद्यालयों के शिक्षाकर्मियों में आक्रोश व्याप्त है, सभी महाविद्यालयों में अशोक चौधरी का पुतला दहन कर अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

अन्य पढ़ें

   Pawan Toon Cartoon

Leave a Comment

Your email address will not be published.