वसीम रिज़वी/waseem rizvi

कौन हैं इस्लाम धर्म छोड़ हिन्दू धर्म अपनाने वाले अली अकबर ?

मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर(ali akbar)  पत्नी लुसीअम्मा के सहित इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने जा रहे हैं। यह बात उन्होंने खुद ही कही है। अकबर ने कहा कि देश के CDS बिपिन रावत के निधन पर कुछ मुसलमानों ने जश्न मनाया लेकिन किसी भी मुस्लिम धर्म गुरु ने इसका विरोध नहीं किया। इससे ऐसा लगता है कि इस्लाम को ऐसी हरकत से कोई फर्क नहीं पड़ता। अकबर ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर कहा कि उनका इस्लाम धर्म से विश्वास उठ गया है।

अकबर ने वीडियो में कहा, ‘मुझे जन्म के समय से ही जो चोला मिला था, उसे उतारकर फेंक रहा हूं। आज से मैं मुस्लिम नहीं हूं। मैं एक भारतीय हूं। मेरा यह संदेश उन लोगों के लिए है, जिन्होंने भारत के खिलाफ हंसते हुए स्माइली पोस्ट की है।’

आखिर कौन है अली अकबर

 20 फरवरी 1963 में केरल में जन्मे अली अकबर भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के सफल डायरेक्टर, स्क्रीन राइटर और लिरिसिस्ट हैं।  20 से ज्यादा मलयालम फिल्मों को डायरेक्ट कर चुके अली अकबर मलयालम फ़िल्म जगत के बेहद लोकप्रिय हस्ती हैं। उनके चर्चित फिल्मों में ‘ग्राम पंचायत’, ‘बैंबू बॉइज’, ‘जूनियर मंद्राके’ और ‘पाई ब्रदर्स’ जैसी मूवीज शामिल हैं। 

अली अकबर उस समय की चर्चा उस समय हो रही थी जब उन्होंने साल 2020 में क्राउड फंडिंग के जरिए एक नई मूवी की मेकिंग की अनाउंसमेंट की थी। इस फ़िल्म का टाइटल ‘1921 Puzha Muthal Puzha Vare’ है।  गौरतलब बात यह है कि यह फ़िल्म 1921 में उत्तरी केरल में हुए मालाबार विद्रोह पर आधारित है। उनके इस घोषणा के बाद उन्हें जान से मारने की धमकी मिलने लगी थी।

अली अकबर को कई खिताबों से नवाजा जा चुका है

  •  नेशनल फिल्म अवॉर्ड 
  •  बेस्ट एजुकेशनलमोटिवेशनलइंस्ट्रक्शनल फिल्म का अवॉर्ड (Rabia Chalikkunnu के लिए)
  •   बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर अवॉर्ड (Mamalakalkkappurathu’ मूवी के लिए)
  • राजनीतिक महत्वाकांक्षी हैं अली अकबर

 अली अकबर ने 2014 के लोकसभा चुनाव में भाग भी लिया था। वो आम आदमी पार्टी के बैनर तले कोडुवल्ली निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़े थे। इससे पहले वो BJP के उम्मीदवार के रूप में कोझीकोड निगम के इलेक्शन में भी चुनाव लड़ चुके हैं।

बाल यौन शोषण के हो चुके हैं शिकार

अली अकबर बचपन में यौन शोषण के शिकार हो चुके हैं। उन्होंने खुद ही साल 2015 में  खुलासा किया था।  8 साल की उम्र में वायनाड के मीनांगडी में मदरसे में एक उस्ताद (टीचर) ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया था।

अन्य लेख पढ़ें

Pawan Toon Cartoon

Leave a Comment

Your email address will not be published.