artificial intelligence

क्या AI शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और खेती में सुधार कर रहा है?

दुनिया बहुत तेज़ी से अपना  रूप से बदल रही है, और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) समाज और किसी भी कार्य  के लिए बहुत ज़रूरी होता जा रहा है।एआई ने वक़्त के साथ साथ प्रयोगशालाओं से गुज़रते हुए एक लम्बा सफर तय कर लिया है। आज हम आपको बताएँ गए के ये ज़िन्दगी को कैसे बदल रहा है।

एआई क्या है ?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को आप  कंप्यूटर सिस्टम द्वारा मानव खुफिया प्रक्रियाओं का अनुकरण कह सकते हैं । एआई की विशेषता में प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण,  विशेषज्ञ प्रणाली, वाक् पहचान और मशीन दृष्टि शामिल है ।

Algorithm क्या है ?

Algorithm एआई प्रोग्रामिंग का एक महत्वपूर्ण  पहलू है जो डेटा प्राप्त करने और डेटा को कार्रवाई योग्य जानकारी में बदलता है।यह किसी भी  विशिष्ट कार्य को पूरा करने के लिए चरण-दर-चरण निर्देश कंप्यूटिंग डिवाइस को प्रदान करता  है। हार्डवेयर हो या  सॉफ़्टवेयर अपने रूटीन के  कार्यों को करने के लिए एल्गोरिदम का उपयोग करता है।

AI स्वास्थ्य देखभाल में क्या सुधार कर रहा है ?

अब यह डॉक्टरों के साथ मिल कर  अंधेपन का ऑप्रेशन करता है और खेतों में किसानों के साथ काम भी करता है । दुनिया भर के वयस्कों के बीच मधुमेह बहुत तेज़ी से बढ़ा है।और एक बहुत बड़ी आबादी इस बीमारी से पीड़ित है। परिहार्य अंधेपन के मुख्य कारणों में  डायबिटिक रेटिनोपैथी (डीआर) एक है। इस का प्रारंभिक पहचान होते ही उपचार करना अति  महत्वपूर्ण है इसके कम से कम क्षति होती है। लेकिन पिछड़े देशों में ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी तरह से प्रशिक्षित नेत्र रोग विशेषज्ञों की कमी एक चुनौती बनी हुई है।

अब इस मुश्किल को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के ज़रिये दूर किया जा रहा है।कुछ ऐसी  गैर-लाभकारी संस्थाएँ हैं जो अंधेपन को खत्म करने के लिए काम कर रही हैं। सिंगापुर स्थित लेबेन केयर ने कई संस्थानों के साथ मिल कर काम करना शुरू किया है।

इंटेल-संचालित प्रौद्योगिकियों पर निर्मित आंखें, AI का उपयोग करते हुए डॉक्टरों साथ मिल कर कम समय में रेटिना की सही स्थिति की पहचान करने में मदद करती  हैं। यह रेटिना के बारे में पूरी जानकारी बहुत अच्छी तरह देता है।

अब सिर्फ इंटेल ही नहीं, डीआर का पता लगाने में भी एआई की ज़रूरत पड़ने लगी है। Google भी  मधुमेह संबंधी रेटिनोपैथी का पता लगाने में मदद करता है।  AI एल्गोरिदम अन्य बीमारियों की पहचान करने में चिकित्सकों की सहायता करने लगा है ।

माइक्रोसॉफ्ट सीइंग एआई रिसर्च प्रोजेक्ट को उन लोगों के लिए डिज़ाइन किया गया है जिनकी  दृष्टि बहुत कमज़ोर है और उन्हें कम से कम नज़र आता है। एआई , पढाई करने ,प्रश्नों के उत्तर देने , कंप्यूटर दृष्टि, छवि ,वाक् पहचान, प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण, किसी व्यक्ति की छवि को पहचानने में  मशीन लर्निंग का उपयोग करता है। यह दुनिया के किसी भी करेंसी नोटों की पहचान कर सकता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI) शिक्षा में कैसे सुधार कर सकता है?

दुनिया के तमाम बुद्धिजीवी इस बात पर सहमत हैं के शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए AI  की मदद लेनी होगी।  तभी हम शिक्षा के उच्च स्तर पर पहुँच सकते हैं। AI के  माध्यम से हर कोई एआई-संचालित प्रौद्योगिकियों का उपयोग करके   आवश्यक कौशल विकसित कर सकता है।

AI शिक्षा छात्रों को अधिक कुशल बनाती है। उन्हें कल की दुनिया में बदलाव लाने के लिए एजेंसी विकसित करने में मदद करता है। छात्र इसका उपयोग समस्याओं की पहचान करने और उनका समाधान खोजने के लिए करते हैं।

एआई की अहमियत को समझते हुए दुनिया भर के तमाम अहम संस्थानों ने  शिक्षा में  मदद के लिए मुख्य रूप से कुछ ऐसे  उपकरणों को लागू किया गया है जो परीक्षण प्रणाली विकसित करने में मदद करते हैं। जैसे-जैसे एआई विकसित हो रहा है शैक्षिक समाधान परिपक्व होते जा रहे हैं।आशा है कि आने वाले वक़्त में एआई की मदद से स्कूलों की पढ़ाई में और सुधार होगा। यह  शिक्षकों की बहुत मदद भी करेगा। आज के छात्रों ही हमारा  भविष्य हैं इसलिए उन्हें भविष्य के में काम करने की तैयारी में AI की आवश्यकता होगी। यह ज़रूरी  है कि हमारे शैक्षणिक संस्थान छात्रों कोAI  के बारे में बताएं और खुद भी AI की तकनीक का  उपयोग करें।

शिक्षा में एआई (Artificial Intelligence) का लाभ क्या है ?

एआई छात्रों को  शिक्षा प्रक्रिया  बेहतर बनाने में मदद करता है। उन तक सही पाठ्यक्रमों को पहुँचाता है। AI शिक्षकों के साथ संचार में सुधार भी करता है।जिन छात्रों को कक्षा के अलावा अतिरिक्त सहायता की आवश्यकता होती है वे AI से मदद ले सकते हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का शिक्षा पर क्या प्रभाव पड़ता है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का शिक्षा के छेत्र में बहुत प्रभाव पड़ा है ये  आने वाले दशकों में एआई शिक्षा में तेज़ी से बदलाव लाएगा। AI  सीखने की रफ़्तार को  तेज करता है और शिक्षा की लागत को कम करता है। इस छेत्र में नए नए और बेहतरीन सॉफ्टवेयर आने वाले हैं।

क्या AI कृषि में सुधार कर रहा है?

मिट्टी में पोषक तत्व फसल के स्वास्थ्य और उपज की मात्रा और गुणवत्ता दोनों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है ।पहले  मिट्टी की गुणवत्ता की जाँच और फसल के स्वास्थ्य का अवलोकन मानव द्वारा किया जाता था। इसमें ग़लती की संभावना भी होती थी।अब हवा का डेटा कैप्चर करने के लिए ड्रोन (यूएवी) का उपयोग किया जाता है।  और फसल और मिट्टी की सही स्थिति की जाँच  के लिए कंप्यूटर विज़न मॉडल का उपयोग किया जाता है। जिससे बेहतर नतीजे मिलते हैं और किसानों को फ़ायदा होता है।

AI  कृषि के  क्षेत्र  में भी बहुत उपयोगी साबित हुआ  है। एक एआई एल्गोरिदम हवा की दिशा की जांच करके  किसानों को यह बताता है कि  कीट और कीड़े किसान के खेत में कहां उतरेंगे। इस बात का किसान को पहले से पता होने के कारण वह अपनी फसल का नुकसान होने से बचा लेता है।AI के उपयोग से अपनी फसल लगाने के लिए अनुकूलित मदद भी मिलती है।

Google आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का उपयोग कैसे करता है?

Google ने एआई का एक बड़ा उपयोग भाषा के छेत्र में किया है।हम में से बहुत से लोग सिर्फ अपनी मातृभाषा ही जानते हैं और उसी भाषा में काम करना पसंद करते हैं। अब Google ने एआई के द्वारा इस चीज़ को हमारे लिए बहुत आसान बना दिया है। अब हम भाषा के बैरियर को तोड़ सकते हैं।

 Google ने सिर्फ भाषा पर ही काम नहीं किया है वह हवा की गुणवत्ता की जाँच ,मौसम संबंधी अलर्ट, बाढ़ की सही भविष्यवाणी और जलवायु संबंधी जानकारी  पर भी तेज़ी से काम कर रहा है जो समय से पहले महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर बड़े नुकसान से बचा सकते हैं।

Google की AI रणनीति क्या है?

Google की पहली रणनीति यही है के AI को बहुत ज़्यादा विकसित किया जाए। उसका मक़सद  कोर डेटा विज्ञान और कंप्यूटर प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में  वर्चस्व बनाना है। सफल होने पर  Google को अपनी modren  AI तकनीक से  व्यवसाय में बहुत लाभ मिलेगा ।

ये  AI के कुछ ऐसे उदाहरण हैं जिनसे  इंसानी ज़िन्दगी की गुणवत्ता में सुधार हुआ है । ये सच है की सामाजिक भलाई के लिए एआई  दुनिया भर में एक आंदोलन की तरह है, जिसका उद्देश्य अच्छी सेहत के लिए सेवा प्रदान करना  ,पर्यावरण की देखभाल करना , गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में मदद करना और कल्याणकारी उपाय की खोज करना है।

Learn More

Leave a Comment

Your email address will not be published.