Home » Blog » इलेक्ट्रिक गाड़ी या बाइक खरीदते वक्त 6 बातों का रखे ख्याल

इलेक्ट्रिक गाड़ी या बाइक खरीदते वक्त 6 बातों का रखे ख्याल

electric vehicle
electric vehicle

पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम से आज कल हर मीडिल क्लास इंसान को उसके गाड़ी रखने वाले सपने को झटका लगा है। निजी गाड़ी रखना हर किसी के लिए महंगा साबित हो रहा है। लेकिन मार्केट में Electric Bikes, Electric Scooter, और Electric Car की उपलब्धता ने इसे अब सस्ता बना दिया है।

इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदना क्यों सस्ता होता है ?

Electric Vehiclesका दाम पेट्रोल-डीजल से चलने वाले गाड़ियों की अपेक्षा सस्ता होता है। इलेक्ट्रिक वाहन अपेक्षाकृत सस्ते दाम पर उपलब्ध होता है। साथ ही सरकार इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने पर सब्सिडी भी देती है। इसके कारण इसका दाम और कम हो जाता है। इलेक्ट्रिक गाड़ी की खरीदारी पर टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस में भी राहत मिलती है।इसलिए इलेक्ट्रिक मॉडल की गाड़ी का मूल्य अन्य गाड़ियों की अपेक्षा कम होता है।

दूसरी बात यह कि इसमें डीजल, पेट्रोल या CNG का उपयोग नहीं होता है जिसके कारण इसका उपयोग सस्ता होता है। इसमें बैट्री का उपयोग होता है जिसे आसानी से बिजली से चार्ज किया जा सकता है।

इलेक्ट्रिक मॉडल की गाड़ियां या बाइक खरीदने वक्त किस बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

इलेक्ट्रिक मॉडल की गाड़ियां या बाइक खरीदने वक्त 6 बातों का रखे ख्याल। जल्दबाजी में ना करें इलेक्ट्रिक वाहन की खरीदारी।

1- पहले यह समझ लें कि गाड़ी या बाइक की गति क्या है?


Electric Vehicles खरीदते वक्त अलग-अलग कंपनियों के इलेक्ट्रिक वाहनों, बाइक्स की स्पीड को समझ लेना चाहिए। यह जानना बहुत जरूर होता है कि किस कंपनी की किस मॉडल के गाड़ी या बाइक की अधिकतम गति सीमा क्या है? इसके लिए आप कुछ कम्पनियों के गाड़ियों का डेटा पढ़ सकते हैं।

2- इलेक्ट्रिक गाड़ियों के रेंज को समझना चाहिए।

Electric Vehicles खरीदते समय इस बात का ध्यान रखे कि इस गाड़ी का रेंज क्या है? “गाड़ी का रेंज” से मतलब यह है कि जब एक बार गाड़ी की बैट्री पूरी तरह से चार्ज हो जाए तो उसके बाद वह कितने किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है। ताकि उसके बाद आपको बैट्री चार्ज करने की जरूरत पड़ेगी।

3- इलेक्ट्रिक गाड़ी या बाइक की बैट्री की कितने दिनों तक काम करती है ?


यह जानना जरूरी है कि आप जिस इलेक्ट्रिक गाड़ी या बाइक खरीद रहे हैं उसके बैट्री की लाइफ क्या है? इसका अर्थ हुआ कि कितने महीने बाद उस बैट्री को बदलना होगा। क्योंकि एक ही बैट्री को बार-बार चार्ज कर लंबे समय तक उसका उपयोग नहीं किया जा सकता है। और इलेक्ट्रिक गाडी में उसकी बैट्री ही बेहद महत्वपूर्ण होता है। उसके बिना तो गाड़ी चल ही नहीं सकती। इसलिए गाड़ी की बैट्री की क्षमता को समझना बहुत जरूरी है।

4- खरीदारी के वक्त इलेक्ट्रिक गाड़ी टॉर्क (Torque) का भी रखे ध्यान।


किसी भी गाड़ी के गतिमान होने में उसके टॉर्क की बड़ी भूमिका होती है। टॉर्क को आप किसी गाड़ी के इंजन की वह शक्ति समझ सकते हैं जो उस गाड़ी को स्टार्ट करती है उसे चलाती है। इलेक्ट्रिक वाहन खरीदते वक्त उसके टॉर्क का भी ध्यान रखना चाहिए। कम टॉर्क का मतलब होता है कि आपकी गाड़ी चल ही नहीं पायेगा।

5- बैट्री की चार्जिंग पॉइंट का रखे ख्याल।


इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए बैट्री चार्ज करना एक बड़ा मुद्दा है। ठीक वैसे ही जैसे ईंधन वाली गाड़ियों के लिए पेट्रोल पंप या डीजल पम्प की उपलब्धता। इसलिए आपको यह तय करना होगा कि आप बैट्री कहाँ चार्ज करेंगे। इसके लिए आपको अपने घर में चार्जिंग पॉइंट इंस्टॉल करवाना होगा। छोटे शहर, गांव या कस्बों में इस बात का आपको ख्याल रखना ही होगा।

6- गाड़ी के मेंटेनेंस का भी रखे ख्याल।

Electric Vehicles के maintenance का भी ख्याल रखना पड़ता है। इसके लिए इसके सर्विसेज सेंटर की मदद लेनी चाहिए। लेकिन आपको जान कर यह खुशी होगी कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों का मेंटेनेंस भी सस्ता होता है। क्योंकि पेट्रोल-डीजल वाली गाड़ियों के इंजन में मूविंग पार्ट्स बहुत होता है जिसे लगातार घूमते रहने के कारण उसका मेंटेनेंस करवाना जरूरी होता है जो खर्चीला होता है। लेकिन इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बहुत ही कम मूविंग पार्ट्स होता है। इसलिए इसका मेंटेनेंस कम खर्चीला होता है। गाड़ी खरीदते वक्त ही इस बात को समझ लेना चाहिए कि इसी सर्विसिंग कब करानी है और कहां करानी है।

Pawan Toon Cartoon

Read More

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>