Month: September 2021

jyoti singh

लगन सच्ची हो तो सपने साकार होते हैं

सच्ची लगन ही सपनें को साकार कर सकती है, सभी रुकावटों को लांघ सकती हैं। लखनऊ की बेटी ज्योति सिंह पर यह कहावत चरितार्थ होता है। इनकी आंखों में कुछ कर दिखाने का सपना बसता है। जिसके लिए लिए ये सतत प्रयत्नशील भी रहती है। उसी का परिणाम है कि गोवा में  BRAIONY MEDIA Ltd  …

लगन सच्ची हो तो सपने साकार होते हैं Read More »

तन्हाई पर शायरी

तन्हाई पर शायरी

तेरा पहलू तेरे दिल की तरह आबाद रहेतुझपे गुज़रे ना क़ियामत शब-ए-तन्हाई कीपरवीन शाकिर۔तेरे होते हुए आ जाती है सारी दुनियाआज तन्हा हूँ तो कोई नहीं आने वालाअहमद फ़राज़۔वीरानी सी वीरानी है तन्हाई सी तन्हाईपहले टूट के रोने वाला अब ख़ामोश तमाशाई हैराशिद साहिल۔मैं हूँ दिल है तन्हाई हैतुम भी होते अच्छा होताफ़िराक़-गोरखपुरी۔तन्हाई में करनी …

तन्हाई पर शायरी Read More »

नींद पर शायरी

नींद पर शायरी

अकेले हम ही नहीं जागते हैं रातों मेंउसे भी नींद बड़ी मुश्किलों से आती हैआग़ा जर्रार۔वो बचपने की नींद तो अब ख़्वाब हो गईक्या उम्र थी, कि रात हुई और सो गएपरवीन शाकिर۔कौन देगा सुकून आँखों कोकिस को देखूं कि नींद आ जायेमुहम्मद अली۔मुझको शिकवा है अपनी आँखों सेतुम ना आए तो नींद क्यों आईजिगर …

नींद पर शायरी Read More »

शायरी

तस्वीर पर शायरी

कहा तस्वीर ने तस्वीर गर सेनुमाइश है मेरी तेरे हुनर सेअल्लामा इक़बाल۔मैं तेरी टाकूँ तस्वीर टांकों और फिरआसमां से चांद को चलता करूँफ़ैज़ मुहम्मद शेख़۔तेरी तस्वीर से करूँ बातेंहाय मुम्किन नहीं मुलाक़ातेंनामालूम۔मैं कहाँ देखने से थकता हूँतेरी तस्वीर थक गई होगीजून एलिया۔अपने जैसी कोई तस्वीर बनानी थी मुझेमेरे अंदर से सभी रंग तुम्हारे निकलेनामालूम۔मुझे तस्वीर …

तस्वीर पर शायरी Read More »

इंतज़ार पर शायरी

इंतज़ार पर शायरी

माना कि तेरी दीद के काबिल नहीं हूँ मैंतू मेरा शौक़ देख, मेरा इंतिज़ार देखअल्लामा इक़बाल۔मुंतज़िर किस का हूँ टूटी हुई दहलीज़ पे मैंकौन आएगा यहां कौन है आने वालाअहमद फ़राज़۔शायद तुम आओ मैंने इसी इंतिज़ार मेंअब के बरस की ईद भी तन्हा गुज़ार दीनामालूम۔बे-ख़ुदी ले गई कहाँ हमकोदेर से इंतिज़ार है अपनामीर तक़ी मीर۔शब-ए-इंतिज़ार …

इंतज़ार पर शायरी Read More »

वक़्त पर शायरी

वक़्त पर शायरी

वक़्त अच्छा भी आएगा ‘नासिर’ग़म ना कर ज़िंदगी पड़ी है अभीनासिर काज़मी۔टूटी कमंद बख़्त का वो ज़ोर रह गयाजब बाम दोस्त हाथ से कुछ दूर रह गयानामालूम हादिसा भी होने में वक़्त कुछ तो लेता हैबख़्त के बिगड़ने में देर कुछ तो लगती हैअमजद इस्लाम अमजद ऐ चश्म जो ये अशक तू भर लाई है …

वक़्त पर शायरी Read More »

जोइता चक्रवर्ती

नन्ही-सी उम्र में बड़ी शोहरत

जब दिल में लगन हो और आँखों में बड़े-बड़े सपने तब छोटी उम्र में भी कठिन लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। अण्डमान और निकोबार की रहने वाली 19 वर्षीया जोइता चक्रवर्ती ने मॉडलिंग की दुनिया में अपनी पहचान स्थापित कर एक नई मिसाल कायम की हैं।  जोइता चक्रवर्ती ने पढ़ाई के साथ-साथ मॉडलिंग …

नन्ही-सी उम्र में बड़ी शोहरत Read More »

कहानी नीमा डोल्मा लामा की

कहानी नीमा डोल्मा लामा की

छोटे शहर और संकुचित परिवेश में परवरिश से व्यक्तित्व का निखार संभव नहीं है लेकिन अगर कुछ कर दिखाने की जिद हो तो कोई भी अड़चन आपको रोक नहीं सकती है।  दार्जलिंग की रहने वाली नीमा डोल्मा लामा के आंखों में बचपन से ही कुछ कर दिखाने का सपना बसा था। लेकिन कोई ऐसा अवसर …

कहानी नीमा डोल्मा लामा की Read More »

मॉडलिंग से मिला आत्मविश्वास

मॉडलिंग से मिला आत्मविश्वास

सदियों से घर की चारदीवारी में कैद महिलाओं की प्रतिभा का कद्र समाज भले ही नहीं करता लेकिन जब घर की बेटियां घर से बाहर निकल अपने लिए एक आत्मनिर्भर दुनिया रचने लगती है तब उसकी प्रतिभा को कोई भी बंधन नहीं रोक सकता है। बैंकर्स से मॉडल बनी मुंबई की सुखविंदर कौर की कुछ …

मॉडलिंग से मिला आत्मविश्वास Read More »

बेटी पर शायरी

बेटी पर शायरी

मीठी मीठी प्यारी सी कहानियां हैंबेटियां तू सच्चे रब की मेहरबानीयां हैंमुबश्शिर साद۔महकता रहता है दिल का जहान बेटी सेज़माने भर में बढ़ी मेरी शान बेटी सेज़रूरी ये नहीं बेटों से नाम रोशन होमेरे नबीﷺ का चला ख़ानदान बेटी सेमुनव्वर राना۔फिर आज देखने आएँगे लोग बेटी कोफिर आज करब से मुझको गुज़ारा जाएगाख़ालिद नदीम शानी …

बेटी पर शायरी Read More »