लैंगिक समानता – सहस्राब्दी का सबसे बड़ा मिथक

By ऋत्विका बनर्जी आजादी के सात दशक से भी ज्यादा समय गुजर चुका है। राजनीति,विज्ञान,अर्थव्यवस्था सहित अनेक क्षेत्रों में स्वतंत्र भारत ने एक लंबा सफर…

View More लैंगिक समानता – सहस्राब्दी का सबसे बड़ा मिथक

योग एवं ध्यान : मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आज की आवश्कता

आज कोरोना जैसी भीषण महामारी से जूझने के बाद लोगों के लिए अब स्वयं के शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए जागरुकता अत्यंत आवश्यक हो…

View More योग एवं ध्यान : मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आज की आवश्कता