लखनऊ की चर्चित समाजसेवी और अधिवक्ता भूमि रॉय कक्कर ने मुस्लिम लड़कों से शादी करने वाली हिन्दू लड़कियों के अधिकार को संरक्षित करने के लिए एक नए कानून बनाने की मांग की है

मुस्लिम लड़के से शादी करने वाली हिन्दू विवाहिता के संरक्षण के लिए बने कानून : भूमि राय कक्कर

लखनऊ की चर्चित समाजसेवी और अधिवक्ता भूमि रॉय कक्कर ने मुस्लिम लड़कों से शादी करने वाली हिन्दू लड़कियों के अधिकार को संरक्षित करने के लिए एक नए कानून बनाने की मांग की है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से इस नए कानून बनाने की मांग करते हुए कहा कि अगर यह कानून बन जाता है तो इससे धर्मांतरण पर भी रोक लग सकती है।

उन्होंने एक ऐसी कानून बनाने की मांग की है कि जिसके तहत मुस्लिम लड़कों से शादी करने वाली हिन्दू लड़कियों को वो सभी कानूनी अधिकार मिले जिसका प्रावधान हिन्दू विवाह कानून में है। अर्थात् हिन्दू लड़कियों को मुस्लिम लड़कों से शादी होने की स्थिति में उन्हें अपने मुस्लिम पति के जमीन- जायदाद, वेतन आदि में ठीक वैसे ही हिस्सा मिले जैसे हिन्दू पतियों से उनके पत्नियों को मिलती है।

शादी होते ही मुस्लिम पति के संपति पर हिन्दू पत्नी का ठीक वैसे ही कानूनन हक हो जाए जैसे हिन्दू विवाह में होता है।  इस शादी से पैदा हुए सन्तान को अपने पिता की पैतृक संपत्ति पर ठीक वैसे ही अधिकार हो जैसे हिन्दू दम्पति के संतानों को होता है। उनकी सन्तान चाहे लड़की हो या लड़का दोनों को समान अधिकार मिले।

उस कानून में यह भी प्रावधान हो कि जब तक हिन्दू पत्नी से तलाक न हो जाए तब तक वो मुस्लिम लड़का दूसरी शादी न कर सके।  तलाक होने की स्थिति में इन हिन्दू पत्नियों को उनके मुस्लिम पतियों के संपत्ति, वेतन आदि में ठीक वैसे ही हक मिले जैसे हिन्दू लड़कियों को हिन्दू कोर्ट बिल के तहत तलाक के बाद पति की संपत्ति तथा उसके वेतन आदि में हिस्सा मिलता है।

तलाक लेने की स्थिती में सभी औपचारिकता कोर्ट में होनी चाहिए न कि किसी काजी या मौलवी के यहां। निष्कर्षत: हम नहीं चाहते कि हमारी किसी हिन्दू बहनों पर किसी भी हालत में मुस्लिम कानून लागू हो, उन्हें अपने अधिकारों के लिए मौलवियों, मुल्लाओं का दरवाजा खटखटाना पड़े। किसी भी हाल में हिन्दू लड़कियों को मुस्लिम लड़के से शादी कर उसको पति के संपति आदि से बेदखल न होना पड़े जैसा कि मुस्लिम पर्सनल बोर्ड के नियमों के तहत होता है।

इस कानून में यह प्रावधान भी हो कि (शादी नहीं होने की स्थिती में भी ) अगर किसी मुस्लिम लड़के का किसी हिन्दू लड़की से अफेयर रहता है और लड़की मां बन जाती है तो उसके संतान को अपने पिता की संपत्ति में हिस्सा मिले ठीक वैसे ही जैसे हिन्दू समाज के लिए गठित कानून में है।  इस कानून के तहत उन हिन्दू लड़कियों को भी अपने पति के संपति में हक़ मिले जो मुस्लिम से शादी कर खुद धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बन गयी हैं। क्योंकि वो बुनियादी तौर पर हिन्दू लड़की ही हैं।

भूमि राय कक्कर ने मांग की है कि यह कानून उन हिंदुओं लड़कियों पर भी लागू हो जो स्वेच्छा से मुस्लिम लड़के से शादी की है। उन पर भी लागू हो जिन्हें किसी मुस्लिम लड़के द्वारा लव जिहाद कर फसाया गया है।

   



   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *