दीदी पर वंशवाद के आरोप पर फोकस कर रही भाजपा

राज्य में जिस भ्रष्टाचार को बीजेपी मुद्दा बना रही है उसे कही न कही वंशवाद से जोड़कर ही प्रस्तुत कर रही है। भाजपा के नेताओं का मानना है कि यह दीदी पर सटीक हमला है जिससे वो तिलमिला गई हैं।

पश्चिम बंगाल के चुनाव में वंशवाद महत्वपूर्ण मुद्दा बनते जा रहा है। भाजपा वंशवाद के आरोप के जरिए ममता बनर्जी को घेर रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे को तृणमूल कांग्रेस के भावी उत्तराधिकारी के रूप में प्रस्तुत कर भाजपा दीदी की पार्टी के नेताओं में असंतोष को उभारना भी चाहते हैं। तृणमूल कांग्रेस को छोड़ भाजपा में जाने का सिलसिला भी कायम है। पार्टी छोड़ भाजपा में जाने वाले नेताओं ने भी ममता बनर्जी के भतीजे पर निशाना साधा है। हाल में टीएमसी छोड़ कर बीजेपी में जाने वाले शुभेंदु अधिकारी और राजीव बनर्जी जैसे पूर्व मंत्री भी लगातार दीदी के भतीजे पर हमले कर रहे हैं। आलम यह है कि पश्चिमी बंगाल के चुनाव ‘बुआ भतीजे की जोड़ी’ मुख्य मुद्दा बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा जैसे शीर्ष नेता भी बुआ-भतीजे की जोड़ी पर लगातार टिप्पणी कर रहे हैं।


दरअसल, भाजपा लोकसभा चुनाव से ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और डायमंड हार्बर सीट से लोकसभा सांसद अभिषेक बनर्जी को मुद्दा बना रही है। हालांकि भाजपा चुनाव प्रचार के दौरान ढेरों वादे भी कर रही है। अमित शाह ने  दक्षिण 24-परगना ज़िले के नामखाना की एक रैली में बीजेपी की सरकार बनने की स्थिति में सरकारी कर्मचारियों के लिए सातवाँ वेतनमान लागू करने और सरकारी नौकरियों में महिलाओं के लिए 33 फ़ीसदी आरक्षण समेत ढेरों वादे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह


पश्चिम बंगाल चुनाव की कमान संभाल रहे अमित शाह ने कहा, “तृणमूल कांग्रेस का एक ही नारा है – भतीजे का कल्याण. लेकिन मोदी सरकार का नारा है – सबका साथ-सबका विकास।” भाजपा की ओर से अभिषेक बनर्जी को राज्य के भ्रष्टाचार का जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। अमित शाह ने कहा कि “बीते पाँच वर्षो में मोदी सरकार की ओर से भेजी गई 3.59 लाख करोड़ की रकम दीदी के भतीजे की जेब में चली गई है। राज्य में जिस भ्रष्टाचार को बीजेपी मुद्दा बना रही है उसे कही न कही वंशवाद से जोड़कर ही प्रस्तुत कर रही है। भाजपा के नेताओं का मानना है कि यह दीदी पर सटीक हमला है जिससे वो तिलमिला गई हैं।


ममता बनर्जी ने किया अमित शाह के बेटे पर पलटवार

ममता बनर्जी ने पलटवार करते हुए कहा कि “उनके ख़िलाफ़ वंशवाद के निराधार आरोप लगाने वाले अमित शाह यह नहीं बताते कि उनके बेटे के किस योग्यता के कारण उनके हाथों में भारतीय क्रिकेट की बागडोर सौप दी गई है। अगर  हिम्मत है, तो अभिषेक के ख़िलाफ़ चुनाव लड़े। पहले वे भतीजे से तो निपट लें, फिर दीदी से निपटेंगे।” अपने ऊपर वंशवाद के लगे आरोपों पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि “उनके भाजपा नेताओं के वंशवाद की पूरी सूची है। भाजपा नेताओं के पुत्र विदेशों में चले जाते हैं। लेकिन हमारे घर के लड़के यहीं रह कर आम लोगों के हित में काम करते हैं।” 


भाजपा के प्रवक्ताओं ने कहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे राजनीति में नहीं हैं। जो व्यक्ति राजनीति में नहीं है उस पर चुनावी सभा में आरोप लगाना समझ के परे है। दीदी को गंभीरता दिखानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *