तीसरी लहर के आहट के बीच वैक्सिनेशन सबसे अहम

By जावेद इकबाल

भारत समेत दुनिया भर के कई देशों में कोरोना फिर अपने पैर पसार रहा है । बीते 24 घंटे में भारत में कोरोना से लगभग 38080 नए मामले दर्ज किए गए वहीं 560 मरीजों ने कोरोना संक्रमण से दम तोड़ दिया।अभी तक महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या भारत में बढ़कर 413091 हो गई है और वहीं दूसरी तरफ केरल में शुक्रवार को सर्वाधिक एक्टिव केस के साथ संक्रमण से सर्वाधिक मौतें दर्ज की गई। गौरतलब बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य सरकारों को लगातार वर्चुअल बैठकों के माध्यम से तीसरी लहर से मुकाबला करने के लिए  वैक्सीनेशन की गति को और तेज गति से बढ़ाने तथा कॉरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की बात कह रहे हैं।

एम्स निर्देशक डॉ. गुलेरिया का भी यही कहना है कि हम तब तक तीसरी लहर को पराजित नही कर सकते  जब तक कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन ना करें और साथ ही टीकाकरण की गति को तेजी से ना बढ़ाएं। 

वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि टीका डेल्टा वेरिएंट के कारण मौत से मुंह में जाने से बचाने में 99%  सुरक्षित है।  वैज्ञानिकों ने यह दावा किया कि कुल 677 लोगों के सैंपल की जीरो सीक्वेंसिंग के  नतीजों के बाद यह रिपोर्ट सामने आई है।अभी हाल ही में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ वायरोलॉजी पुणे की रिपोर्ट भी इसकी पुष्टि कर दी है।

वैज्ञानिकों ने पाया कि दोबारा संक्रमण के अधिकतर मामले डेल्टा वेरिएंट से जुड़े हैं। वैक्सिनेशन के बाद सिर्फ 9.8% लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की नौबत आई है जबकि सिर्फ 0.4% मरीजों की मौत हुई है। ऐसे में कहीं ना कहीं वैक्सीनेशन की अहमियत समझ में आती है। ऐसी ही एक रिपोर्ट अमेरिका में भी प्रकाशित हुई है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि बीते दिनों में अमेरिका मे संक्रमण के मामलों में 70% की वृद्धि देखी गई है और मौतों में 26 % की वृद्धि हुई है हॉस्पिटल में भर्ती होने वालों में 97 % वे लोग हैं जिनका वैक्सीनेशन नहीं हुआ है। इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार लगातार टीकों की आपूर्ति बढ़ाने  के साथ-साथ केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय ‘जान है तो जहान है’ नामक कार्यक्रम के माध्यम से टीका जागरूकता अभियान भी चला रहा है। टीकों की आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने 66 करोड़ नई खुराकों को खरीदने का ऑर्डर दे दिया है।

गौरतलब है कि अभी तक केंद्र सरकार द्वारा राज्यों को 41.69 करोड खुराक प्रदान की जा चुकी है। केन्द्र सरकार  टीकाकरण और उसके जागरूकता अभियान को लेकर संवेदनशील है और इसके लिए वे गैर सरकारी संगठनों एवं धार्मिक संगठनों का भी सहारा ले रही है।

One Reply to “तीसरी लहर के आहट के बीच वैक्सिनेशन सबसे अहम”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *