उच्च शिक्षा निदेशालय बना भ्रष्टाचार का अड्डा

उच्च शिक्षा निदेशालय बना भ्रष्टाचार का अड्डा : प्रो. गौतम

बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ (फैक्टनेब) के मीडिया प्रभारी प्रो. अरुण गौतम ने आरोप लगाया है कि डिग्री महाविद्यालयों को स्थाई संबद्धन देने का मामला हो या संबद्ध डिग्री महाविद्यालयो का 2012 से बकाया वेतन मद्  सहायक अनुदान राशि भुगतान का मामला हो उच्च शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों द्वारा मोटी रकम की मांग संबंधित महाविद्यालयों से खुलेआम  की जाती है।

प्रो. गौतम ने स्पष्ट करते हुए कहा कि संबंधन देने में पच्चास हजार से एक लाख रुपये तथा वेतन मद सहायक अनुदान राशि भुगतान करने में राशि का एक प्रतिशत की मांग की जाती है । उनकी नाजायज राशि भुगतान नहीं करने पर संचिका को बेवजह अधिकारियों द्वारा लंबित कर दिया जाता है। 2012 से बकाया अनुदान राशि भुगतान नहीं किया जाने  का एक मुख्य कारण यह भी है।                                          

प्रो. गौतम ने मुख्यमंत्री,शिक्षा मंत्री एवं उच्च पदों पर पदस्थापित अधिकारियों से अनुरोध किया है कि उच्च शिक्षा निदेशालय में पदस्थापित अधिकारियों पर कड़ी नजर रखी जाए तथा शिक्षा विभाग को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने की दिशा में कारगर कदम उठाया जाये एवं दोषियों की पहचान कर कार्रवाई की जाये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *