jyoti singh

अगर सच्ची लगन हो तो सपने भी साकार होते हैं

सच्ची लगन ही सपनें को साकार कर सकती है, सभी रुकावटों को लांघ सकती हैं। लखनऊ की बेटी ज्योति सिंह पर यह कहावत चरितार्थ होता है। इनकी आंखों में कुछ कर दिखाने का सपना बसता है। जिसके लिए लिए ये सतत प्रयत्नशील भी रहती है। उसी का परिणाम है कि गोवा में  BRAIONY MEDIA Ltd  द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में इन्हे  Mrs Classic 2nd Runner up & tittle (Most photogenic face) से नवाजा गया है।

ज्योति सिंह, 47 की उम्र में भी गुड़िया-सी दिखती हैं

47 वर्षीय ज्योति दो बेटियों की माँ हैं। घरेलू जिम्मेदारी के बीच ज्योति शैक्षिक कार्य से जुड़ी हैं, लखनऊ में बच्चों की शिक्षा के लिए गतिशील रहती हैं।  पति और ससुराल के सहयोग ने इनके सपनों को नई उड़ान देने में सहयोग किया और ये निकल पड़ी फैशन शो औऱ मॉडलिंग की राह पर। नई चीजें सीखने की ललक और ससुराल के सहयोगात्मक रवैये के कारण इनमें आत्मविश्वास को नई ऊर्जा मिली और आज 47 वर्ष की उम्र में फैशन और मॉडलिंग की दुनिया में धमाकेदार इंट्री कीं।

सबसे खास बात है कि भारतीय समाज में प्रायः 40 की उम्र पार करने के बाद महिलाओं का व्यक्तिगत जीवन अस्तित्वहीन हो जाता है। वो अस्तित्व उनके बच्चों की खुशी और ससुराल की सेवा में विलीन हो जाता है। अपनी पहचान और हर सपने को कुर्बान कर के महिलाएं इंसान से मशीन में परिवर्तित हो जाती हैं। ऐसी मानसिकता वाली दुनिया में  ज्योति का 47 की उम्र में मॉडलिंग में जाना अपने आप में एक मिसाल है जो सभी महिलाओं के लिए प्रेरणास्रोत है।

उनका कहना है कि स्त्री और पुरूष दोनों को ईश्वर ने जैवकीय रूप से समान बनाया है, दोनों में समान भावनाएं होती है फिर भी सामाजिक अंकुश स्त्रियों पर की थोपी जाती हैं। उन्होंने बताया कि अपनी जिंदगी जीने के लिए थोड़ी बहुत बगावती होना भी जरूरी है। अगर बंदिशें मजबूत हो तो घरेलू औरतों को अपने हित में बगावत करना भी चाहिए। उनका व्यक्तित्व सभी घरेलू महिलाओं को कुछ कर दिखाने और अपनी पहचान बचाए रखने के लिए प्रेरित करती हैं।

गोवा में आयोजित यह समारोह उनके लिए पहला आयोजन रहा लेकिन उन्होंने ने अपने आत्मविश्वास का परिचय दिया। आयोजन में शामिल होने के बाद वो बेहद उत्साहित हैं। उनका मानना है कि इस तरह का आयोजन आपको हाजिर जवाबी बनाती है, आपके व्यक्तित्व को उभारती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *